महिंद्रा ने भारत में पेश किया पहला चालक रहित ट्रैक्टर, जानें क्या हैं खूबियां

महिंद्रा ने भारत में पेश किया पहला चालक रहित ट्रैक्टर, जानें क्या हैं खूबियांड्राइवरलेस टैक्टर पेश करते महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन गोयनका।

लखनऊ। ड्राइवरलेस कारों के बारे में तो हम लगातार सुनते आ रहे हैं और इनके भारत में लॉन्च होने का इंतजार भी किया जा रहा है, लेकिन महिंद्रा कंपनी ने भारत का पहला ड्राइवरलेस ट्रैक्टर पेश भी कर दिया है।

ऑटोमोबाइल कंपनी महिन्द्रा एंड महिन्द्र कंपनी ने भारत में पहली बार ड्राइवरलेस (चालक रहित) ट्रैक्टर को लॉन्च करते हुए कहा, यह ड्राइवरलेस ट्रैक्टर दुनिया भर के किसानों को ध्यान में रखते हुए लांच किया गया है। महिंद्रा इसे 2018 की शुरुआत में बाजार में उतार सकती है।

खेती का बदल जाएगा भविष्य

महिन्द्रा एंड महिन्द्र कंपनी के बयान के मुताबिक इस ट्रैक्टर को चेन्नई में स्थित ग्रुप के इनोवेशन और टेक्नोलॉजी हब महिन्द्रा रिसर्च वैली में विकसित किया गया है। यह ड्राइवरलेस ट्रैक्टर वैश्विक किसानों के लिए मशीनीकरण की प्रक्रिया को फिर से परिभाषित करने के लिये पूरी तरह से तैयार है। कंपनी का दावा है कि यह इस नई तकनीक से कृषि के भविष्य में बड़ा बदलाव आएगा।

हमारा ट्रैक्टर आरएंडडी अत्याधुनिक समाधानों की पेशकश करने में हमेशा ही अग्रणी रहा है। ड्राइवरलेस (चालकरहित) ट्रैक्टर खेती में नई संभावनाओं के द्वार खोलता है। हम हमारे फॉर्मिंग 3.0 प्रस्ताव के अनुरूप वैश्विक कृषि समुदाय के लिए इस खोजपरक मशीनीकरण को समर्पित कर बेहद खुश हैं।
डॉ. पवन गोयनका, प्रबंध निदेशक, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड

टैबलेट के जरिए कंट्रोल

ट्रैक्टर में जियोफेंस लॉक लगा हुआ है जो इसे खेत की मेंढ़ के अंदर बने रहने में मदद करता है, ट्रैक्टर को टैबलेट की मदद से दूरदराज के इलाकों में कंट्रोल किया जा सकता है। ट्रैक्टर में जीपीएस आधारित ऑटोस्टीर टेक्नोलॉजी लगी हुई है जो इसे एक सीधी लाइन में चलने में मदद करती है। इसमें एक ऑटो लिफ्ट भी लगी हुई है जो खेती के समय औजारों को अपने आप खेत जोतने के लिए नीचे कर देगी और काम पूरा होने के बाद औजारों को अपने आप ऊपर उठा लेगी। बिना ड्राइवर के खेत जोतने के लिए ट्रैक्टर में कई तकनीक को इस्तेमाल किया गया है।

फीचर और इंजन

महिंद्रा के इस ट्रैक्टर में 20 हॉर्सपॉवर से 100 हॉर्सपॉवर ताकत वाले इंजन के साथ लांच कर सकती है। यह ट्रैक्टर ड्राइवरलेस तकनीक को ध्यान में रखकर बनाया गया है। फीचर के चलते ग्राहकों को जीपीएस बैसेड तकनीक पर ऑटोस्टीयर दिया है। जिसके कारण ट्रैक्टर सीधी लाइन में चलता है। इसके अलावा ऑटो हैंडलेड टर्न का भी फीचर दिया है। जो ट्रैक्टर को मोड़ने में मदद करता है।

मजदूरों की कमी और उत्पादकता को ध्यान में रखते हुए हुआ निर्माण

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड के अध्यक्ष (फॉर्म इक्विपमेंट सेक्टर) राजेश जेजुरिकर ने कहा, वर्तमान में कृषि संबंधित मशीनों की जरूरत पहले से बहुत ज्यादा है। मजदूरों की कमी और उत्पादकता और कृषि उत्पादित क्षेत्रों को बेहतर बनाने की जरूरत इसका प्रमुख कारण हैं। हमने पिछले साल अपनी 'डिजिसेंस' टेक्नोलॉजी को लॉन्च किया था और अब चालक रहित ट्रैक्टर की पेशकश कर रहे हैं। इनके जरिए भारतीय किसानों को ट्रैक्टर के लिए इंटेलीजेंस के बेमिसाल स्तर को पेश किया जाएगा।

चालक रहित ट्रैक्टर कैसे करता है काम देखें वीडियो

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top