झूठी खबर: आधी रात में आपको बच्चे के रोने की आवाज आए तो दरवाजा मत खोलिएगा

झूठी खबर: आधी रात में आपको बच्चे के रोने की आवाज आए तो दरवाजा मत खोलिएगा

आजकल सोशल मीडिया पर झूठे मैसेज तेजी से वायरल हो रहे हैं कभी बच्चा चोरी करने का मैसेज आता है तो कभी प्रधानमंत्री द्वारा हेलमेट, साइकिल और लैपटॉप देने का मैसेज आता है। एक ऐसा ही मैसेज महोबा पुलिस के सन्दर्भ से व्हाट्सऐप पर वायरल किया जा रहा था लेकिन वो मैसेज एकदम झूठा था, जिसका खंडन खुद महोबा पुलिस ने किया।

विभिन्न व्हाट्सऐप ग्रुप में महोबा जिले के कोतवाली नगर क्षेत्र और कोतवाली कुलपहाड़ क्षेत्र के सम्बन्ध में एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें लोगों को सावधान रहने के लिए कहा जा रहा है।

ये भी पढ़ें- जल्द ही आप झूठे और सच्चे मैसेज को पहचान सकेंगे

मैसेज में लिखा हुआ है कि सावधान महोबा और कुलपहर में 15-20 लोगों की टोली आई है उनके साथ बच्चे और महिलायें भी हैं। दो बजे या आधी रात को किसी भी वक्त आते हैं और बच्चों के रोने की आवाज आती है। कृपया दरवाजा न खोलें और इस मैसेज को आगे बढ़ाएं। कुलपहाड़ पुलिस महोबा।


इस मैसेज का खंडन करते हुए महोबा पुलिस ने कहा है कि यह संज्ञान में आया है कि विभिन्न व्हाट्सऐप ग्रुप पर उपरोक्त मैसेज कुलपहाड़ पुलिस महोबाका सन्दर्भ देते हुए वायरल हो रहा है जो कि पूरी तरह अफवाह, भ्रामक और असत्य है। यह मैसेज लोगों को भयभीत करने की नियति से वायरल किया जा रहा है। आम जनमानस को इससे भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है।

ये भी पढ़ें- व्हाट्सऐप पर सिर्फ 5 लोगों को भेज सकेंगें मैसेज, ये भी हुए हैं बदलाव

महोबा पुलिस उक्त अफवाह, असत्य मैसेज का पूर्ण रूप से खंडन करती है और अनुरोध करती है कि बिना सत्यता की जांच किये मैसेज को किसी भी ग्रुप में पोस्ट न करें वरना आपके खिलाफ कठोर दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

ये भी पढ़ें- सावधान: कहीं आप भी 15 अगस्त को साइकिल या हेलमेट लेने के चक्कर में तो नहीं हैं?

Share it
Share it
Share it
Top