भारत में तेज़ी से फल-फूल रहा फूड ट्रक का बिजनेस, युवा हो रहे आकर्षित

भारत में तेज़ी से फल-फूल रहा फूड ट्रक का बिजनेस, युवा हो रहे आकर्षितफूड ट्रक

भारत में प्रोफेशनल पढ़ाई करने वाले युवाओं को फूड ट्रक जैसा बिजनेस काफी भा रहा है। युवा अपनी नौकरी छोड़ इस बिजनेस में उतर रहे हैं।

लोगों को कुछ खाने पीने के लिए ज्यादातर रेस्टोरेंट या होटल का रुख करना पड़ता है, लेकिन बदलते दौर के हिसाब से इस समय अधिकतर शहरों में नया चलन फ़ूड ट्रक शुरू हो गया है। जो अच्छा फल-फूल रहा है।

मैगजीन एंट्रप्रेन्योर के द्वारा नई पीढ़ी के लिए जारी बिजनेस आइडिया की लिस्ट में ऐसे कई बिजनेस आइडिया शामिल किए गए हैं। जिसमे से फ़ूड ट्रक बिज़नेस एक है।

भारत में प्रोफेशनल पढ़ाई करने वाले युवाओं को फूड ट्रक जैसा बिजनेस काफी भा रहा है। युवा अपनी नौकरी छोड़ इस बिजनेस में उतर रहे हैं। ऐसे ही लखनऊ के रहने वाले एक युवा आकाश कुमार (29 वर्ष) जिन्होंने पुणे में एक अच्छे संस्थान से एमबीएम की पढ़ाई करने के बाद एक मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी शुरू की। नौकरी करने के कुछ वर्षों बाद आकाश ने खुद का बिजनेस शुरू करने का सोचा। एमबीए की नौकरी छोड़ लखनऊ अपने घर वापस आ गए।

यह भी पढ़ें : बिना पॉलीहाउस के शिमला मिर्च की खेती से नोट कमा रहा यूपी का ये युवा किसान

आकाश बताते हैं, "एमबीए की नौकरी छोड़ने के बाद कुछ दिन घर पर खाली बैठा रहा। घर पर खाली बैठने के कारण परेशान होने लगा। ऐसे ही एक दिन शाम को टहलने निकला। उसी दौरान लखनऊ के समतामूलक चौराहे के पास मैंने देखा की सड़क के किनारे लगे ठेलों में फास्ट फूड खाने के लिए लोगों की लाइन लगी है।" आकाश आगे बताते हैं, "फिर मेरे दिमाग में एक बिजनेस आईडिया आया। मैंने सोचा क्यूं न मेट्रो सिटी की तरह लखनऊ में भी खाने के शौकीनों के लिए फ़ूड ट्रक जैसा बिजनेस शुरू किया जाए।"

पुराने ट्रक को बनाया फूड ट्रक

आकाश बताते हैं, "फिर मैंने एक पुराना मिनी ट्रक खरीदा और उसको एक फूड ट्रक का रूप दिया। एक ट्रक को फूड ट्रक बनाने में लगभग दो से तीन लाख का खर्च आया। ट्रक तैयार होने के बाद मैंने दो शेफ को हायर किया।

महिला हेल्पलाइन 1090 चौराहे पर से शुरू किया बिजनेस

अब सिर्फ लखनऊ में एक अच्छी जगह ही दरकार थी जाहं हम अपना बिजनेस शुरू कर सकें।" आकाश बताते हैं, "लखनऊ के महिला हेल्पलाइन नंबर 1090 के हेडआफिस के पास लोगों की अच्छी खासी भीड‍़ शाम को रहती है ये जगह मैंने अपने फूड ट्रक के लिए चुनी और आज हम अच्छी खासी आमदनी निकाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें : खेती से हर दिन कैसे कमाएं मुनाफा, ऑस्ट्रेलिया से लौटी इस महिला किसान से समझिए

कम समय में अच्छा खाना चाहते हैं लोग

एंट्रप्रेन्योर मैगजीन के मुताबिक लोगों की आदतें बदलने का सबसे बड़ा असर उनकी फूड हैबिट्स पर पड़ा है। लोग हेल्दी खाना चाहते हैं लेकिन समय की कमी से भी जूझते हैं। इसी वजह से फूड ट्रक लगातार सफल हो रहे हैं। क्योंकि ये सीधे आपकी ऑफिस से सटी पार्किंग में भी स्वादिष्ट खाना ऑफर कर सकते हैं। फ़ूड ट्रक का एक फ़ायदा यह है के आप को किसी एक फिक्स जगह पर नहीं रुकना पड़ता। ग्राहक के हिसाब से अपनी स्थिति बदल सकते है मतलब यहाँ ग्राहक वहां आपका ट्रक।

भारत में धीरे-धीरे फूड ट्रक की बढ़ रही पहचान

फूड ट्रक विदेशों में काफी पहले से चल रहा एक आम बिजनेस आइडिया है। हालांकि भारत में अब ये धीरे धीरे अपने कदम बढ़ा रहा है। मीडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में कई फूड ट्रक सेलेब्रिटी का दर्जा पा चुके हैं और इन ट्रक के अपने पहले से तय जगह पर पहुंचने से काफी पहले इनके ग्राहक लाइन में खड़े रहते हैं।

यह भी पढ़ें : केवल 10 हजार रुपए से शुरू कर सकते हैं ज्यादा मुनाफा दिलाने वाला ये व्यवसाय

छोटे से बिजनेस से करोड़ों की कंपनी के मालिक बन चुके हैं कई लोग

ऐसे ही एक फूड ट्रक 'मिस चीजियस' को शुरू करने वाले ब्रायंस मलिंस न केवल मीडिया में काफी मशहूर हैं साथ ही 2015 में अपने एक छोटे से ट्रक से शुरुआत करने के बाद फिलहाल वो दो बड़े फूड ट्रक और दो रेस्टोरेंट के मालिक बन चुके हैं। साथ ही उनका फूड ट्रक अब एक कंपनी बन चुका है।

एक वर्ष में ही निवेश निकाल कमाने लगेंगे मुनाफा

एंट्रप्रेन्योर के मुताबिक स्वाद, सर्विस और सफाई तीन फैक्टर पर खरे उतरने वाले फूड ट्रक साल भर में निवेश निकाल कर मुनाफा कमाने लगते हैं। इसके लिए अगर आप अच्छा खाना बना लेते है तो आप को सिर्फ एक हेल्पर की जरूरत होगी। इसके इलावा आप आइस क्रीम और किसी ड्रिंक का भी फ़ूड ट्रक शुरू कर सकते है। शुरुआत एक पुराना ट्रक और मिनी ट्रक लेकर कर सकते है। बहुत सारी कंपनी फाइनेंस से पर ट्रक खरीद सकते है।

मात्र दो से तीन लाख में शुरू कर सकते हैं बिजनेस

ट्रक के अंदर की सेटिंग्स अपने हिसाब से कर सकते है। इसलिए शुरुआत में 2 से 3 लाख में आप अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है। छोटे ट्रक आप फाइनेंस पर ले सकते हैं और उसको फूड ट्रक का स्वरूप दे सकते हैं। बहुत सी जगह पर ट्रक से फ़ूड बेचने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है, लेकिन ज्यादातर शहरों में आप को कोई खास परमिशन की जरूरत नहीं पड़ती। अगर आप अपना ब्रांड नेम बनाने में सफल रहते है तो आप का बिज़नेस एक नई ऊंचाई पर पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ें : जानिए एक ऐसी लड़की के बारे में जिसने बेरंग कबाड़ को दिए खूबसूरत रंग

छोटी बाई की बड़ी कहानी... वो श्मशान घाट पर रहती हैं, मुर्दों की देखरेख करती हैं...

Share it
Top