अब स्कूलों के लिये भी हो सकती है मान्यता प्रणाली, सरकार कर रही है विचार

अब स्कूलों के लिये भी हो सकती है मान्यता प्रणाली, सरकार कर रही है विचारप्रकाश जावड़ेकर                                                                                  साभार:इंटरनेट

सरकार अब कॉलेजों की मान्यता की तर्ज पर स्कूल मान्यता (कॉलेज एक्रेडिटेशन) प्रणाली लागू करने पर विचार कर रही है। मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अगर कोई स्कूल अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता है तो उसे मान्यता नहीं दी जाएगी।

शिक्षा में सुधार के लिया जाएगा फैसला

जावड़ेकर ने कहा, 'देखने में आ रहा है कि स्कूलों में शिक्षा प्रणाली दिन पर दिन खराब होती जा रही है। फैसले को लेने की सबसे बड़ी वजह ये है कि भारत में बिगड़ती शिक्षा प्रणाली की गुणवत्ता में सुधार लाया जा सके।' आईएएनएस की रिपोर्ट के अनुसार एमआईटी- वर्ल्ड पीस यूनिवर्सिटी (एमआईटी डब्ल्यूपीयू) परिसर में भारत छात्र संसद के आठवें संस्करण के उद्घाटन समारोह में जावड़ेकर ने कहा कि 'राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दोनों ने खुद गरीबी और भुखमरी को करीब से देखा है।

ये भी पढ़ें- वित्त मंत्रालय ने निवेशकों को चेताया, क्रिप्टोकरेंसी की कोई कानूनी मान्यता नहीं

वहीं उन्होंने आगे कहा, 'अगर एक चायवाला हमारे देश का प्रधानमंत्री बन सकता है और एक आम वकील राष्ट्रपति की कुर्सी तक पहुंच सकता है तो आज के युवा राजनीति से क्यों डरते हैं, युवाओं को राजनीति के बारे में अपने दृष्टिकोण को बदलना होगा और राजनीति में शामिल होकर इस बदलाव का हिस्सा बनना होगा।'

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top