ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण को लेकर जागरूक करने के लिए शुरू हुआ 'जान है तो जहान है' अभियान

देश के ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में कोरोना टीकाकरण के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान 'जान है तो जहान है' की शुरूआत यूपी के रामपुर से हो गई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण को लेकर जागरूक करने के लिए शुरू हुआ जान है तो जहान है अभियान

बड़ी संख्या में लोगों ने खासकर युवाओं ने स्वास्थ्य केंद्र पहुँच कर कोरोना का टीका लगवाया। इस अवसर पर मोबाइल कोरोना टीकाकरण वैन को भी रवाना किया। सभी फोटो: @naqvimukhtar/Twitter

कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने के लिए देश भर में आज से 'जान है तो जहान है' अभियान की शुरूआत की गई है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने उत्तर प्रदेश के रामपुर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चमरौआ से इस अभियान की शुरूआत की।

कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी कहा कि कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए देश के कुछ क्षेत्रों में कोरोना के टीके को लेकर अफवाहें और आशंकाएं फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे तत्व लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण के दुश्मन हैं।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने उत्तर प्रदेश के रामपुर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चमरौआ से इस अभियान की शुरूआत की।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने विभिन्न सामाजिक-शैक्षिक संगठनों, गैर सरकारी संगठनों और महिला स्वयं सहायता समूहों के साथ जागरूकता अभियान शुरू किया है, जो आने वाले दिनों में पूरे देश में आयोजित किया जाएगा। अभियान के तहत विभिन्न धार्मिक नेता, सामाजिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, चिकित्सा, विज्ञान और अन्य क्षेत्रों के प्रमुख लोग टीकाकरण के लिए लोगों को प्रभावी संदेश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश भर में इस अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक भी आयोजित किए जाएंगे।

उन्होंने कहा, दो "भारत में निर्मित" कोरोना टीके हमारे वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत का परिणाम हैं और यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध हो चुका है कि ये टीके कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी हथियार हैं। उन्होंने कहा कि भारत को कोरोना महामारी से मुक्त बनाने के लिए हर पात्र व्यक्ति को टीका लगवाना चाहिए।

नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की 'नई रोशनी' योजना के तहत कार्यरत राज्य हज समितियों, वक्फ बोर्डों, उनके संबद्ध संगठनों, केंद्रीय वक्फ परिषद, मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान, विभिन्न सामाजिक और शैक्षणिक संस्थानों, गैर सरकारी संगठनों, महिला स्वयं सहायता समूहों को जागरूकता अभियान में शामिल किया गया है। ये संगठन लोगों को कोरोना महामारी से निपटने के लिए टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित करेंगे।

"जान है तो जहान है" अभियान देश के विभिन्न स्थानों पर होगा। इस अभियान में विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, शैक्षिक, मेडिकल एवं विज्ञान और अन्य क्षेत्रों के प्रमुख लोग सकारात्मक सन्देश दे रहे हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.