पीएम मोदी ने टर्नबुल से कहा, खुशी है कि हमारे फैसले डीआरएस के अंतर्गत नहीं आते

पीएम  मोदी ने टर्नबुल से कहा, खुशी है कि हमारे फैसले डीआरएस के अंतर्गत नहीं आतेमेट्रो ट्रेन में यात्रा के दाैरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ से सेल्फी लेते आट्रेलियाई प्रधानमंत्री। 

नई दिल्ली (भाषा)। विराट कोहली और स्टीव स्मिथ हाल में समाप्त हुई टेस्ट श्रृंखला में ‘डीआरएस' को लेकर भिड़ गये थे और शायद इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुशी है कि उन्होंने और ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल ने जो फैसले किए हैं वे ‘डीआरएस के अधीन' नहीं आते।

ये भी पढ़ें- पहली बार भारत आए ऑस्ट्रेलिया के पीएम ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी भारत को तरक्की के रास्ते पर ले जा रहे हैं

प्रधानमंत्री मोदी ने भारत और आस्ट्रेलिया के बीच समाप्त हुई कड़ी टेस्ट श्रृंखला और इस दौरान अंपायर रेफरल प्रणाली को लेकर चली बहस के संदर्भ में कहा, ‘‘हल्के फुल्के अंदाज में कहूं तो मैं वास्तव में खुश हूं कि हमारे फैसले डीआरएस समीक्षा प्रणाली के अधीन नहीं आते। ''मोदी ने टर्नबुल के साथ द्विपक्षीय बातचीत के बाद जारी बयान में दोनों देशों के बीच संबंधों का वर्णन करते हुए क्रिकेट का जिक्र किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि टर्नबुल के देश के दौरे का अंत भी हाल की टेस्ट श्रृंखला में स्मिथ की बल्लेबाजी फार्म की तरह ही सार्थक होगा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मोदी ने कहा, ‘‘अभी पिछले महीने हम बोर्डर-गावस्कर ट्राफी के रोमांचक अंत का गवाह बने। ''उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 2014 में आस्ट्रेलियाई संसद में अपने भाषण में महान ब्रैडमैन और तेंदुलकर का जिक्र किया था। आज भारत में विराट कोहली और आस्ट्रेलिया में स्टीवन स्मिथ क्रिकेट की युवा ब्रिगेड को नया स्वरूप दे रहे हैं। ''स्मिथ के चार मैचों की श्रृंखला में 499 रन के प्रदर्शन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि भारत की आपकी यात्रा भी एक अन्य ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ की बल्लेबाजी की तरह की सार्थक होगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top