मुंबई सीरियल ब्लास्ट : ताहिर, फिरोज और रशीद को फांसी, करीमुल्ला शेख, अबू सलेम को उम्रकैद

मुंबई सीरियल ब्लास्ट : ताहिर, फिरोज और रशीद को फांसी, करीमुल्ला शेख, अबू सलेम को उम्रकैदकरीमुल्ला शेख और अबू सलेम को उम्रकैद की सज़ा के साथ-साथ दो लाख रुपए ज़ुर्माना लगाया है।

नई दिल्ली। मुंबई में 1993 में हुए बम बिस्फोटों में टाडा अदालत ने ताहिर मर्चेंट, फिरोज और रशीद को फांसी की सज़ा सुनाई है, जबकि करीमुल्ला शेख और अबू सलेम को उम्रकैद की सज़ा के साथ-साथ दो लाख रुपए ज़ुर्माना लगाया है। इसके साथ ही कोर्ट ने रियास सिद्दीकी को 10 साल की सज़ा सुनाई है।

टाडा अदालत ने सभी को इस वर्ष 16 जून को दोषी ठहराया था। मुस्तफा दौसा को दोषी करार दिए जाने के बाद 28 जून को उसकी मौत हो गई थी। इन विस्फोटों में 257 लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हुए थे और करोड़ों रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ था। सरकारी पक्ष ने दोषियों में से तीन को फांसी की सजा और दो को आजीवन कारावास की सजा की मांग की थी।

ये भी पढ़ें : 1993 मुंबई ब्लास्ट और अबू सलेम के बारे में वो सब जो आप जानना चाहते हैं

लगातार हुए थे 12 धमाके

12 मार्च 1993 को देश की आर्थिक राजधानी मुंबई मैं सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे, जिसमें 257 लोग मारे गए थे और 713 लोग घायल हुए थे। पहला धमाका बॉम्बे स्टॉक एक्सेंज की 28-मंज़िला इमारत की बेसमेंट मेंहुआ था। उस समय शेयर बाजार में करीब 2000 लोग मौजूद थे। उसके बाद मुंबई के अलग-अलग इलाके में एक के बाद एक करके 12 धमाके हुए। पुलिस और सीबीआई के मुताबिक ये षडयंत्र अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, टाइगर मेमन, मोहम्मद दोसा और उनके साथियों ने मिलकर रचा था।

ये भी पढ़ें : प्रधानमंत्री जी, 2022 तक कैसे बढ़ेगी किसानों की आमदनी ?, महत्वाकांक्षी सिंचाई योजना का हाल देखिए

किसपर क्या है आरोप

  • इन सातों अभियुक्तों में से सबसे गंभीर आरोप मुस्तफ़ा दोसा पर हैं। दोसा पर आरोप है कि उन्होंने बमधमाकों में लगने वाले एक्सप्लोसिव और गोला बारूद मुंबई में समुद्र के किनारे उतारे थे। पुलिस के मुताबिक़ धमाके के लिए तीन हज़ार किलो से भी ज़्यादा आरडीएक्स उतारा गया था जबकि सिर्फ़ दस फ़ीसदी ही इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा दोसा पर कई अभियुक्तों को ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजने के भी आरोप हैं।
  • अबू सलेम पर हथियारों और धमाके के सामान को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के आरोप हैं। इसके अलावा संजय दत्त को हथियार देने का आरोप भी सलेम पर ही है।
  • अब्दुल क़य्यूम पर भी संजय दत्त को हथियार पहुंचाने का आरोप है।
  • मोहम्मद ताहेर मर्चेंट पर धमाकों में शामिल कई आरोपियों को ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजने का आरोप था।
  • रियाज़ सिद्दीकी पर आरोप है कि वो आरडीएक्स से भरी मारुति वैन चला कर गुजरात के भरुच इलाके में ले गए और वो गाड़ी अबू सलेम के हवाले कर दी।
  • फ़िरोज़ खान इस केस के मुख्य अभियुक्त मोहम्मद दोसा के क़रीबी हैं और उनपर हथियारों और धमाके का सामान एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के आरोप हैं। करीमुल्लाह शाह पर भी यही आरोप हैं।

ये भी पढ़ें : रोबोट बने किसान : खेत जोतने से लेकर फसल की रखवाली तक करते हैं कई काम

Share it
Top