मुजफ्फरपुर अपडेट: 'चमकी बुखार' से मरने वालों की संख्या 104 पर पहुंची

मुजफ्फरपुर में सस्पेक्टेड इंसेफ्लाइटिस 'चमकी बुखार' से मरने वालों की संख्या 104 तक पहुंच गई है। सोमवार तेरह बच्चों की मौत हुई जबकि रविवार रात भी दो बच्चे काल के गाल में समा गए।

मुजफ्फरपुर अपडेट:

मुजफ्फरपुर (बिहार) बिहार के मुजफ्फरपुर में सस्पेक्टेड इंसेफ्लाइटिस 'चमकी बुखार' से मरने वालों की संख्या 104 तक पहुंच गई है। सोमवार रात 13 बच्चों की मौत हुई जबकि रविवार रात भी दो बच्चे काल के गाल में समा गए।

मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज में लगातार मंत्रियों और नेताओं के आने का सिलसिला जारी है। रविवार को केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन के बाद सोमवार को बिहार के उद्योग मंत्री श्याम रजक अस्पताल में पहुंचे। उन्होंने अस्पताल और स्वास्थ्य कर्मियों का जायजा लिया।

गौरतलब है कि कई परिजन अस्पताल में अव्यवस्था और स्वास्थ्य कर्मियों की कमी का आरोप लगा रहे हैं। डॉक्टरों ने भी स्वीकार किया है कि उनके पास संख्या बल की काफी कमी है।

सोमवार सुबह सीमानी नाम की एक लड़की की भर्ती हुई। विडम्बना यह है कि जिस एंबुलेस से सीमानी की छोटी बहन का शव घर पहुंचा था, उसी से सीमानी को अस्पताल लाया गया। सीमानी की मां यह दुहरा दुख बर्दाश्त नहीं कर पाई और सदमे में चली गई। सीमानी मुजफ्फरपुर की कोठिया गांव की रहने वाली है। सीमानी की तरह कई बीमार बच्चे अभी भी लगातार अस्पताल में आ रहे हैं और भर्ती हो रहे हैं।

यह भी पढें- मुजफ्फरपुर: जिनके बच्चे उनके सामने घुट-घुटकर मर गये, उनके लिए कैसा फादर डे


ये हैं 'चमकी बुखार' के लक्षण, ऐसे कर सकते हैं अपने बच्‍चे का बचाव


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top