भीम-आधार से भारतीय अर्थव्यवस्था में क्रांति आएगी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  

भीम-आधार से भारतीय अर्थव्यवस्था में क्रांति आएगी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बी आर अंबेडकर को उनकी 126वीं जयंती के मौके पर श्रद्धांजलि दी। मोदी सबसे पहले दीक्षाभूमि गए, जहां अंबेडकर और उनके छह लाख से भी अधिक अनुयायियों ने बौद्ध धर्म अपनाया था।

नागपुर (महाराष्ट्र) (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भीम-आधार डिजिटल भुगतान प्लेटफार्म हर भारतीय को स्मार्टफोन पर अपने बायोमिट्रिक डाटा का इस्तेमाल करके डिजिटली भुगतान करने की सुविधा देकर भारतीय अर्थव्यवस्था में क्रांति ला सकता है।

मोदी ने नागपुर में भीम-आधार डिजिटल प्लेटफार्म लॉन्च करते हुए कहा कि इससे दुनिया के किसी भी स्थान पर डिजिटल भुगतान को बढ़ावा मिलेगा। यह 'नकद रहित' अर्थव्यवस्था की ओर एक कदम होगा और इससे काले धन से छुटकारा मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने बी.आर. अंबेडकर की जयंती के मौके पर कई परियोजनाओं का उद्धाटन किया और कहा कि देश के लोगों को स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को पूरा करने का प्रयास करना चाहिए।

अगले पांच साल में हर भारतीय के पास एक घर होना चाहिए। उन्होंने कहा, “2022 के लिए हमारा एक सपना है। सबसे गरीब के पास भी अपना घर होना चाहिए और उस घर में बिजली, पानी और अन्य सुविधाएं होनी चाहिए। पास में अस्पताल और स्कूल होने चाहिए।
नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री

मोदी ने बाबा साहेब का जिक्र करते हुए कहा कि जिंदगी में संघर्षों का सामना करने के बावजूद उनमें थोड़ी-सी भी कड़वाहट या बदले की भावना नहीं थी।

इससे पहले मोदी ने अंबेडकर को उनकी 126वीं जयंती के मौके पर श्रद्धांजलि दी। मोदी ने दिनभर के अपने कार्यक्रमों की शुरुआत में सबसे पहले दीक्षाभूमि की यात्रा की, जहां अंबेडकर और उनके छह लाख से भी अधिक अनुयायियों ने बौद्ध धर्म अपनाया था।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी थे। अंबेडकर जयंती के मौके पर शुक्रवार को समूचे महाराष्ट्र में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।

Share it
Share it
Share it
Top