एनडीआरआई में धूमधाम से मनाया वसंत उत्सव

एनडीआरआई में धूमधाम से मनाया वसंत उत्सवराष्ट्रीय डेरी अनुसंधान संस्थान में में वसंत उत्सव बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया।

करनाल। हर वर्ष की तरह इस बार भी राष्ट्रीय डेरी अनुसंधान संस्थान में वसंत उत्सव बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम में देशभक्ति गीतों के माध्यम से चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, राजगुर और सुखदेव को भावभिनी श्रद्घांजलि दी, वहीं नाटक के माध्यम से यह दर्शाने का प्रयास किया गया कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है, चाहे खेल का मैदान हो या फिर अनुसंधान का क्षेत्र।

एनडीआरआई के निदेशक डा. आर.आर.बी. सिंह ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा, "वसंत का उत्सव प्रकृति का उत्सव है। यह पर्व वसंत ऋतु के आगमन का सूचक है, जिस प्रकार से वसंत में पतझड़ खत्म होते ही पेड़ों पर नई कोपले जन्म लेती हैं, उसी तरह से आप सभी के अंदर भी पुराने और नीरस विचारों को छोड़ कर नव-चेतना का संचार होना चाहिए।"

ये भी पढ़ें- व्यावसायिक डेयरी फार्मिंग शुरू करने जा रहें तो 19 मार्च को यहां ले सकते हैं प्रशिक्षण

उन्होंने आगे कहा, "संस्थान शिक्षा के साथ-साथ विद्यार्थियों के चहुमुखी विकास के लिए इस प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करता रहता है। इसी कड़ी में आज वसंत उत्सव मनाया गया है। डॉ सिंह ने बताया, "इस कार्यक्रम में टॉप आने वाले विद्यार्थियों को अप्रैल माह में आयोजित होने वाले रेवरी-2018 (युवा महोत्सव) में भाग लेने का मौका मिलेगा।

वसंत उत्सव के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक डा. आरआरबी सिंह ने विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर संयुक्त निदेशक (अनुसंधान) डॉ बिमलेश मान, डॉ. जेके कौशिक, डॉ टीके दत्ता, डॉ एके तोमर सहित अन्य वैज्ञानिक और विद्यार्थीगण मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- वैज्ञानिक विधि से करें पशुओं के चारे का भंडारण

Share it
Top