Top

साड़ी, बुर्का पहना- मेहंदी लगाई तो नहीं दे पाएंगे नीट, आधार कार्ड जरूरी, एग्जाम सेंटर में मिलेगा खास पेन

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   6 May 2017 10:07 AM GMT

साड़ी, बुर्का पहना- मेहंदी लगाई तो नहीं दे पाएंगे नीट, आधार कार्ड जरूरी, एग्जाम सेंटर में मिलेगा खास पेनफोटो प्रतीकात्मक।

नई दिल्ली। देशभर के मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और डेंटल कोर्स में एडमिशन के लिए सीबीएसई का एन्ट्रेंस एग्जाम नीट 7 मई रविवार को होगा। बोर्ड ने इसके लिए ड्रेस कोड समेत कई दिशानिर्देश जारी किए हैं, जिनका पालन न करने पर एग्जाम देने नहीं दिया जाएगा। सीबीएसई ने नकल पर रोक लगाने के लिए कई तरह के नियम बनाए हैं, जिनमें क्या पहनना है और क्या नहीं, क्या लेकर आना है और क्या नहीं जैसे सुझाव दिए गए हैं। एग्जाम के लिए 103 सेंटर्स बनाए गए हैं।

नीट एग्जाम के लिए सीबीएसई की ओर से ड्रेस कोड के अलावा कई सख्त नियम बनाए गए हैं। गर्ल्‍स स्‍टूडेंट के लिए साड़ी पहनने के साथ-साथ मेहंदी लगाने पर भी रोक है। स्‍टूडेंट हवाई चप्पल या सैंडल, हाफ टी-शर्ट या शर्ट, ट्राउजर, लैगिंग्स, लोअर, प्लाजो, सलवार, हाफ स्लीव्स कुर्ती, टॉप पहनकर एग्‍जाम देने जा सकते हैं। बड़े बटन वाले या फूल-पत्ती वाले कपड़े पहनकर आने पर भी रोक रहेगी।

बिना आधार के नहीं मिलेगी एंट्री

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से अप्रूव्ड देशभर के मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में नीट के जरिए एडमिशन होता है। इस एग्जाम को करवाने वाले सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने स्टूडेंट्स को कहा है कि वे सेंटर में अपना आधार कार्ड जरूर लाएं। बिना इसके एग्जाम हॉल में नहीं घुसने दिया जाएगा। इस बार नीट के लिए रजिस्टर करने के लिए आधार कार्ड जरूरी किया गया था। स्टूडेंट्स को नीट की वेबसाइट से एडमिट कार्ड डाउनलोड कर उसमें अपनी फोटो भी लगानी होगा। इसके अलावा भी फोटो ले जानी होगी।

एग्जाम सेंटर में ही मिलेगा खास पेन

नीट के लिए सीबीएसई ने इस बार खास पेन तैयार करवाया है। एग्जाम सेंटर में एंट्री के बाद एडमिट कार्ड दिखाने पर यह पेन दिया जाएगा। यह पेन केवल नीट के लिए तैयार कराया गया है। स्टूडेंट बाहर से पेंसिल भी नहीं ला सकेंगे।

नौ भाषाओं में होगी परीक्षा

इस साल नीट एग्जाम अंग्रेजी अलावा नौ अन्य भारतीय भाषाओं में भी होगा। इनमें हिंदी, अंग्रेजी, असमी, बांग्ला, गुजराती, मराठी, कन्‍नड़, ओड़िया, तमिल और तेलुगू शामिल हैं।

बुर्का, साड़ी में नहीं मिलेगी एंट्री

एग्जाम देने आने वाली विवाहित महिलाओं को मंगल सूत्र पहनने की छूट रहेगी, लेकिन बुर्का या साड़ी पहनकर आने पर एंट्री नहीं मिलेगी।

रजिस्ट्रेशन बढ़ा

इस बार नीट के लिए 11 लाख 35 हजार 104 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है। पिछले साल की तुलना में 41.42% ज्यादा है। पिछली बार नीट के लिए 8 लाख 2 हजार 594 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया था।

इन चीजों के साथ भी नहीं मिलेगी एंट्री

ताबीज, ब्रेसलेट पहनने और कृपाण भी अपने पास रखने पर रोक लगाई गई है। इसके अलावा कैंडिडेट पर्स, क्रेडिट-डेबिट कार्ड नहीं ले जा सकेंगे। लॉकेट, जूते, फुल स्लीव्स की शर्ट, घड़ी, धूप वाले चश्मे (गॉगल्स), हेयर क्लिप, रबर बैंड, बेल्ट, चूड़ी पहने होने पर भी परीक्षा हॉल में एंट्री नहीं मिलेगी।

ड्रेस कोड

बोर्ड ने कैंडिडेट्स के लिए ड्रेस कोड भी रखा है। कैंडिडेट्स को आधी बाजू के हल्के कपड़े, पेंट या सलवार पहनने की सलाह दी है। बिना हील्स की सैंडल्स या चप्पलें पहनने को कहा गया है। जूते पहनने से मना किया गया है।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.