सरकार ने मौजूदा सिम कार्डों के लिए आधार आधारित सत्यापन को सरल किया

सरकार ने मौजूदा सिम कार्डों के लिए आधार आधारित सत्यापन को सरल कियाआधार

नई दिल्ली (भाषा)। आधार के जरिये मौजूदा मोबाइल फोन ग्राहकों के पुन: सत्यापन की प्रक्रिया को अधिक सुगम और सुविधाजनक किया रहा है। एक आधिकारिक सूत्र ने आज यह जानकारी दी।

दूरसंचार ग्राहकों के लिए पूरी प्रक्रिया को सुगम करने के लिए सरकार ने कई उपाय किए हैं। इनमें उपभोक्ता के घर के दरवाजे पर पुन: सत्यापन की अनुमति के अलावा एक बारगी पासवर्ड (ओटीपी) के जरिये भी सत्यापन शामिल है। सूत्रों ने पीटीआई भाषा से कहा कि दूरसंचार आपरेटरों को विकलांग, बीमार या उम्रदराज लोगों को घर पर पुन: सत्यापन की सुविधा उपलब्ध कराने को कहा गया है।

ये भी पढ़ें- आधार कार्ड के बिना नहीं मिलेंगे सिम कार्ड, सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने कहा- एक साल में हर मोबाइल नंबर होगा आधार से लिंक

इसके अलावा आपरेटरों से वेबसाइट और अन्य माध्यमों से आनलाइन व्यवस्था भी स्थापित करने को कहा गया है, जिससे लोग इस तरह की सेवा के लिए आग्रह भेज सकें। इसके अलावा मौजूदा मोबाइल ग्राहकों के लिए आधार ओटीपी आधारित पुन: सत्यापन की सुविधा भी शुरु की गई है। दूरसंचार आपरेटरों को निर्देश दिया गया है कि वे मोबाइल ग्राहकों के लिए ओटीपी आधारित पुन: सत्यापन की प्रक्रिया शुरु करने को कहा गया है। आपरेटरों को इसके लिए एसएमएस या आईवीआरएस या उनके मोबाइल एप का इस्तेमाल करने को कहा गया है।

ये भी पढ़ें- अगर जियो सिम से एक दिन में 300 मिनट से ज्यादा करते हैं बात, तो बंद हो सकती है आपकी वॉयस कॉलिंग सेवा

सूत्र ने कहा कि इसका आशय है कि यदि एक मोबाइल नंबर आधार डेटाबेस में पंजीकृत है, तो ओटीपी तरीके का इस्तेमाल उस नंबर के पुन: सत्यापन के अलावा संबंधित ग्राहक के अन्य नंबरों के सत्यापन के लिए भी किया जा सकता है। सूत्र ने बताया कि करीब 50 करोड़ मोबाइल नंबर पहले ही आधार डेटाबेस में पंजीकृत हैं। इन सभी मामलों में पुन: सत्यापन के लिए ओटीपी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें-

ऐसे करें आधार को अपने सिम से लिंक

जल्द ही कराएं अपने सिम को आधार से लिंक नहीं तो हो सकता है डिएक्टिवेट

यूपी : गोंडा में BSNL ने दो लाख उपभोक्ताओ का सिम वेरिफिकेशन का लक्ष्य रखा

Share it
Top