तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पीएम मोदी ने ऐतिहासिक और अमित शाह ने नए युग की शुरुआत बताया

तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पीएम मोदी ने ऐतिहासिक और अमित शाह ने नए युग की शुरुआत बतायाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह। फाइल फोटो

नई दिल्ली (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक साथ लगातार तीन बार तलाक बोलने की प्रथा पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ऐतिहासिक करार देते हुए आज कहा कि यह महिलाओं के सशक्तिकरण और मुस्लिम महिलाओं को समानता का अधिकार प्रदान करने की दिशा में अहम कदम है। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने नए युग की शुरुआत बताया।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ' ' माननीय उच्चतम न्यायालय का फैसला ऐतिहासिक है, यह मुस्लिम महिलाओं को समानता का अधिकार प्रदान करने और महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में सशक्त कदम है। ' '

इससे पहले स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने लालकिले की प्राचीर से अपने संबोधन में कहा था , 'मैं उन महिलाओं के प्रति अपना सम्मान व्यक्त करता हूं जिन्हें तीन तलाक के कारण दुखद जीवन जीना पड़ रहा है, उन महिलाओं ने इसके खिलाफ एक आंदोलन चलाया जिसने इस प्रथा के खिलाफ पूरे देश में एक माहौल तैयार कर दिया। ' '

प्रधानमंत्री ने कहा था कि उनके अधिकार दिलाने के लिए पूरा देश इन प्रयासों में उनके साथ है।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने बहुमत के निर्णय में मुस्लिम समाज में एक बार में तीन बार तलाक देने की प्रथा को निरस्त करते हुये आज अपनी व्यवस्था में इसे असंवैधानिक, गैरकानूनी और शून्य करार दिया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तीन तलाक की यह प्रथा कुरान के मूल सिद्धांत के खिलाफ है।

प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने अपने 365 पेज के फैसले में कहा, ' '3:2 के बहुमत से दर्ज की गयी अलग अलग राय के मद्देनजर ' 'तलाक-ए-बिद्दत ' ' तीन तलाक को निरस्त किया जाता है। ' '

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के एक नए युग की शुरुआत है और भाजपा मुस्लिम महिलाओं को मिले उनके अधिकारों और सम्मान को संकल्पवान ' 'न्यू इंडिया ' ' की ओर बढ़ते कदम के रूप में देखती है।

अमित शाह ने अपने बयान में कहा, ' ' सर्वोच्च न्यायालय द्वारा आज तीन तलाक पर दिए गए ऐतिहासिक फैसले का मैं स्वागत करता हूं। यह फैसला किसी की जय या पराजय नहीं है, यह मुस्लिम महिलाओं के समानता के अधिकार और मूलभूत संवैधानिक अधिकारों की विजय है। ' '

विश्व के बहुत सारे मुस्लिम देशों में तीन तलाक का कानून अस्तित्व में नहीं है सर्वोच्च अदालत ने तीन तलाक को गैर संवैधानिक घोषित करके देश की करोड़ों मुस्लिम महिलाओं को समानता और आत्म सम्मान से जीने के साथ जीने का अधिकार दिया है।
अमित शाह अध्यक्ष भाजपा

उन्होंने कहा, ' ' मैं अपने अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ रही सभी पीड़ित महिलाओं के हक में आए इस फैसले का स्वागत करता हूं और उनका अभिनंदन करता हूं, मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा सरकार को मुस्लिम महिलाओं के पक्ष को विवेकपूर्ण और न्यायपूर्ण तरीके से उच्चतम न्यायालय में रखने के लिए धन्यवाद देता हूं। ' '

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज से देश की मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमानपूर्ण और समानता के एक नए युग की शुरुआत हुई है। पार्टी मुस्लिम महिलाओं को मिले उनके अधिकारों और सम्मान का स्वागत करती है और इसे संकल्पवान ' 'न्यू इंडिया ' ' की ओर बढ़ते कदम के रूप में देखती है।

Share it
Top