श्रीश्री रविशंकर ने यमुना को पहुंचाया 13 करोड़ का नुकसान: रिपोर्ट

श्रीश्री रविशंकर ने यमुना को पहुंचाया 13 करोड़ का नुकसान: रिपोर्टपिछले साल 11 से 13 मार्च के बीच अयोजित किया गया था विश्व संस्कृति महोत्सव

नई दिल्ली। आर्ट ऑफ लिविंग के स्थापना दिवस के मौके पर दिल्ली में यमुना तट पर विश्व संस्कृति महोत्सव आयोजन करने की वजह से यमुना तट को जो नुकसान हुआ है उसे दोबारा बसाने में 13.29 करोड़ रुपए लग जाएंगे।

पिछले साल से शुरु हुए इस विवाद में बुधवार को विशेषज्ञों ने एनजीटी को बताया कि इस समारोह के आयोजन से यमुना तट को 13.29 करोड़ का नुकसान हुआ है। बता दें कि यह समारोह पिछले साल 11 से 13 मार्च के बीच आयोजित किया गया था।

इस पूरे मामले पर आर्ट ऑफ लिविंग के प्रवक्ता केदार देसाई ने कहा कि हमारी लीगल टीम मामले के सभी पहलुओं को बारीकी से देखेगी और उसके बाद ही किसी तरह का एक्शन लिया जाएगा।

बता दें कि श्री श्री रविशंकर के प्रोग्राम वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल का आयोजन दिल्ली में यमुना के किनारे किया गया था। तीन दिन तक चले इस प्रोग्राम के खत्म होने के बाद दूर-दूर तक सिर्फ गंदगी, कूड़े के ढेर दिखे। श्री श्री रविशंकर की संस्था के स्वयं सेवकों ने प्रोग्राम की तैयारियों में पर्यावरण और यमुना को नुकसान से बचाने की भरसक कोशिश की थी, लेकिन समापन के बाद चारो तरफ गंदगी फैल गई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

तीन दिन चला था वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल

  • 11 2016 मार्च से शुरू हुआ श्री श्री रविशंकर का मेगा शो वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल 13 मार्च 2016 को खत्म हुआ।
  • कार्यक्रम का उद्घाटन पीएम नरेंद्र मोदी ने किया था।
  • आखिरी दिन श्री श्री के कार्यक्रम में कई केंद्रीय मंत्री और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन पहुंचीं थीं।
  • वित्त मंत्री अरुण जेटली, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और वेंकैया नायडू, बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह भी कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top