आधार डाटा सुरक्षित करने की सरकार की नई पहल बेकार : चिदंबरम  

आधार डाटा सुरक्षित करने की सरकार की नई पहल बेकार : चिदंबरम  पी.चिदंबरम (कांग्रेस नेता)

नई दिल्ली (आईएएनएस)। कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने गुरुवार को कहा कि आधार डाटा सुरक्षित करने की सरकार की नई पहल बेकार है क्योंकि पहले ही लाखों आधारधारक अपनी यूनिक आईडी कई सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर चुके हैं।

पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, "अनिवार्यता की वजह से लाखों लोगों ने पहले ही अपने आधार नंबर कई सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर दिया है। नई सुरक्षा प्रणाली घोड़े के भाग जाने के बाद अस्तबल बंद करने जैसा है।"

ये भी पढ़ें- अबकी बार सिगरेट पी तो सच मानिए, ‘ऊपरवाले’ की लाठी पड़ना तय

आधार डाटा को संग्रहित करने समेत नागरिकों के बायोमेट्रिक जानकारी इकट्ठा करने वाला भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने बुधवार को आधार कार्ड की गोपनीयता सुरक्षित करने के लिए दो स्तरीय प्रणाली लागू करने की घोषणा की। इसके अंतर्गत आधार धारकों को सत्यापन के लिए अपना आधार अंक नहीं देना होगा।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हाल ही में एक न्यूज रिपोर्ट में आधार की जानकारी आसानी से उपलब्ध होने की रिपोर्ट छापी गई थी, जिसके बाद आधार की गोपनीयता को सुरक्षित करने के लिए सरकार ने यह घोषणा की है।

ये भी पढ़ें- स्वामी विवेकानंद की जयंती पर एक साथ 31 उपग्रह छोड़ने की उल्टी गिनती शुरू

नए प्रणाली के तहत, आधार कार्ड धारकों को सत्यापन के वक्त अपना आधार कार्ड नंबर साझा नहीं करने का विकल्प मौजूद रहेगा। इसके बदले 16 अंकों का वर्चुअल आईडी नंबर जारी किया जा सकता है, जिसका इस्तेमाल बिना आधार नंबर दिए ही सत्यापन के लिए किया जा सकेगा।

ये भी पढ़ें- आधार को बदनाम करने की योजनाबद्ध मुहिम : नीलेकणि   

ये भी पढ़ें- आधार को सुरक्षित बनाने के लिए सरकार लॉन्‍च करेगी ‘वर्चुअल आईडी’ 

ये भी पढ़ें- आधार पर स्नोडेन ने भारत को दी नसीहत - पत्रकारों को निशाना मत बनाओ

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top