नोटबंदी ‘सबसे बड़ा घोटाला’ और मोदी ने जनता को गुमराह किया : कांग्रेस  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   31 Aug 2017 5:41 PM GMT

नोटबंदी ‘सबसे बड़ा घोटाला’ और मोदी ने जनता को गुमराह किया : कांग्रेस  वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को नोटबंदी को सबसे बड़ा घोटाला बताया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने कहा कि उच्च मूल्य के नोटों को बंद करने के फैसले को लेकर मोदी ने बार-बार गलत बयान दिए।

एक संवाददाता सम्मेलन में वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में कालेधन को लेकर झूठी टिप्पणी की, जिसका खुलासा बीते साल 8 नवंबर को 500 व 1000 रुपये के नोटों की नोटबंदी बाद हुआ है।

आनंद शर्मा ने कहा नोटबंदी से जीडीपी को 2.25 लाख करोड़ रुपए को नुकसान हुआ और इसके लिए प्रधानमंत्री सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा, लोग सच्चाई स्वीकार करेंगे, वे यह भी स्वीकार कर सकते हैं कि एक गलती की गई है, लेकिन इसे बार-बार कहना गलत है कि जो भी कुछ किया, वह सही था।

आनंद शर्मा की यह टिप्पणी आरबीआई के बुधवार को आई वार्षिक रिपोर्ट के बाद आई है। इस रिपोर्ट में 8 नवंबर की नोटबंदी के कम प्रभावी होने का खुलासा किया गया है। इसमें कहा गया कि 15.44 लाख करोड़ रुपए के प्रसार में से 15.28 लाख करोड़ रुपए लोगों द्वारा जमा किए जाने से प्रणाली में लौट आए।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा कि अटॉर्नी जनरल ने सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि नोटबंदी की वजह से आतंकवादी फंडिंग से जुड़े 4-5 लाख करोड़ रुपए प्रणाली में वापस नहीं आएंगे। शर्मा ने कहा, "सरकार ने हर कदम पर सच्चाई बयान करने के बजाय लोगों को गुमराह किया और चहेतों को सुविधा पहुंचाई गई। यह सबसे बड़ा घोटाला है, क्योंकि जिनके पास अवैध रुपया था, सरकार ने उसे वैध बनाने में मदद की।"

कांग्रेस का सवाल यह भी है कि नोटबंदी के दौरान जो सवा सौ से ज्यादा लोगों की कतारों खड़े-खड़े मौत हुई, उसके लिए कौन जिम्मेदार है? कोई जिम्मेदारी क्यों न नहीं ले रहा?

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top