सुरेश प्रभु में यदि रत्ती भर नैतिकता है तो अपने पद से त्यागपत्र दें : कांग्रेस

सुरेश प्रभु में यदि रत्ती भर  नैतिकता है तो अपने पद से त्यागपत्र  दें : कांग्रेसमनीष तिवारी, कांग्रेस नेता

नई दिल्ली (भाषा)। कांग्रेस ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु के इस्तीफे की मांग तेज करते हुए आज कहा कि पांच दिन के भीतर कैफियत एवं उत्कल एक्सप्रेस रेल हादसों के बाद यदि उनमें ' 'रत्ती भर भी नैतिकता बच गई है तो उन्हें अपने पद से त्यागपत्र दे देना चाहिए। ' '

रेल बोर्ड के अध्यक्ष ए के मित्तल के अपने पद से इस्तीफे की खबरों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि प्रभु को इस तरह का रवैया (रेल अधिकारियों का इस्तीफा मांगना) बंद करना चाहिए और स्वयं त्यागपत्र देना चाहिए।

मीडिया में आई खबरों के अनुसार उत्तर प्रदेश के ओरैया जिले में आज तड़के कैफियात एक्सप्रेस के एक डंपर से टकरा जाने के बाद पटरी से उतर जाने की घटना के पश्चात रेल बोर्ड के अध्यक्ष ए के मित्तल ने अपना इस्तीफा रेल मंत्री प्रभु को सौंप दिया था। इस हादसे में 74 लोग घायल हो गए। इससे पहले गत शनिवार को राज्य के मुजफ्फरनगर में उत्कल एक्सप्रेस रेल हादसे में 23 लोगों की जान गयी और करीब 100 लोग घायल हो गए।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

रेल बोर्ड के अध्यक्ष ए के मित्तल के इस्तीफे के बारे में अभी आधिकारिक रुप से पुष्टि नहीं हुई है।

कांग्रेस प्रवक्ता तिवारी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ' 'आज की घटना के बाद यदि प्रभु में रत्ती भर भी नैतिकता बची है तो उन्हें तुरंत त्यागपत्र देना चाहिए। यह बहुत ही खराब रवैया है कि बोर्ड अध्यक्ष या किसी अन्य अधिकारी से त्यागपत्र देने को कहा जाए। ' '

Share it
Top