दिवाली गिफ्ट में कॉरपोरेट जगत ने 35-40 फीसदी की कटौती की

दिवाली गिफ्ट में कॉरपोरेट जगत ने 35-40 फीसदी की कटौती कीदिवाली में उपहार के लिए लड्डू बनाते हलवाई।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। बाजार में छाई मंदी और बैंलेंस शीट पर दवाब को देखते हुए देश के कॉरपोरेट जगत ने अपने कर्मियों, सहयोगियों और भागीदारों को देने वाले गिफ्ट के बजट में कम से कम 35 से 40 फीसदी की कटौती की है। एसोचैम के एक सर्वेक्षण में बुधवार को यह जानकारी दी गई।

सर्वेक्षण में बताया गया है कि हालांकि यह कटौती कंपनी के बाहर वालों के लिए अधिक की गई है, जबकि कंपनी के तरफ से अपने कर्मियों को दिए जानेवाले सालाना गिफ्ट में बहुत ज्यादा कटौती नहीं की गई है। हालांकि इसमें कहा गया है कि यह बोनस भुगतान में बड़ी गिरावट का संकेत है, क्योंकि कॉरपोरेट कंपनियां कर्ज में डूबी हैं तथा अपने परिचालन खर्च में कटौती कर रही हैं।

नोटबंदी के झटके के बाद जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) लागू करने के दौरान आ रही परेशानियों ने कारोबार का माहौल प्रभावित किया है।

दिवाली गिफ्ट देने में मंदी की वजह से चॉकलेट, कुकीज और मिठाइयों का कारोबार प्रभावित हुआ है और उन्होंने सामान्य से कम बिक्री की जानकारी दी है।
डी. एस. रावत महासचिव एसोचैम

रावत ने कहा, "इसी प्रकार से उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु बनानेवाली कंपनियों जो वाशिंग मशीन, रेफ्रिजेटर, गैस चूल्हा आदि बनाती है उनका कारोबार भी प्रभावित हुआ है। यहां तक त्योहारों के दौरान महंगे फोन की होनेवाली बिक्री भी प्रभावित हुई है।"

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

Share it
Top