दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने से नाराज यात्रियों ने कहा, कौन खुश होगा, वह भी एक साल में दो बार 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   10 Oct 2017 3:54 PM GMT

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने से  नाराज यात्रियों ने कहा, कौन खुश होगा, वह भी एक साल में दो बार दिल्ली मेट्रो।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। दिल्ली मेट्रो ने मंगलवार को दिल्ली सरकार के विरोध के बावजूद अपने किराए में वृद्धि कर दी है वहीं, इस बढ़ोत्तरी पर यात्रियों ने अपनी नाराजगी जताई है। दो किलोमीटर की दूरी के लिए न्यूनतम किराया 10 रुपए ही रहेगा, लेकिन लंबी दूरी की यात्रा के लिए मंगलवार से मेट्रो किराए में वृद्धि हो गई है। इस साल दिल्ली मेट्रो के किराए में दूसरी बार वृद्धि की गई है।

पश्चिम विहार से राजीव चौक की यात्रा करने वाले वित्तीय सेक्टर में कार्यरत अजय (40) कहते हैं, "यह वृद्धि किसी भी लिहाज से ठीक नहीं है। इस तरह की भारी वृद्धि से कौन खुश होगा, वह भी एक साल में दो बार। यह लगभग दोगुना है। कल तक मैं 27 रुपए किराया देता था और आज से मुझे इतनी ही दूरी के लिए 40 रुपए का भुगतान करना होगा।"

जापानी कंपनी में काम करने वाले अरविंद त्रिपाठी ने कहा, "मैंने आज बाटा चौक से राजीव चौक तक के लिए 60 रुपए का भुगतान किया। यह अच्छा नहीं है।"

दिल्ली मेट्रो में आज आप पांच किलोमीटर से अधिक की दूरी की यात्रा करेंगे तो आपको बढ़े हुए किराए के मद्देनजर 10 रुपए अधिक देने होंगे। पांच माह में दूसरी बार बढ़े इस किराए से पांच किलोमीटर से अधिक दूरी की यात्रा करने वाले सभी यात्री प्रभावित होंगे। वहीं, दो से पांच किलोमीटर की यात्रा करने वालों को पांच रुपए अधिक का भुगतान करना होगा।

नया किराया इस प्रकार है -

दो किलोमीटर तक के लिए 10 रुपए

दो से पांच किलोमीटर तक के लिए 20 रुपए

पांच से 12 किलोमीटर के लिए 30 रुपए

12 से 21 किलोमीटर के लिए 40 रुपए

21 से 32 किलोमीटर के लिए 50 रुपए

32 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा के लिए 60 रुपए।

स्मार्ट कार्ड का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को प्रत्येक यात्रा पर दस फीसदी की छूट मिलती रहेगी। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के अनुमान के अनुसार मेट्रो के कुल यात्रियों में से 70 फीसदी स्मार्ट कार्ड उपभोक्ता हैं।

उन्हें सुबह आठ बजे तक, दोपहर को 12 बजे से पांच बजे के बीच और रात को नौ बजे से मेट्रो सेवाएं समाप्त होने तक सामान्य समय के दौरान 10 फीसदी की अतिरिक्त छूट मिलेगी।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि यह निजी कैब ऑपरेटरों को लाभ पहुंचाने की साजिश है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, बोर्ड में 16 निदेशकों में से दिल्ली सरकार के पांच निदेशक हैं, जिन्होंने इसका विरोध किया। हालांकि केंद्र ने हठी रवैया दिखाया। यह वृद्धि काफी अनुचित है, केंद्र को आम आदमी का अधिक ख्याल रखना चाहिए था।

डीएमआरसी बोर्ड में दिल्ली सरकार के प्रतिनिधियों में दिल्ली के मुख्य सचिव, प्रधान सचिव (वित्त) और परिवहन आयुक्त शामिल हैं।

डीएमआरसी ऋण और बिजली की बढ़ती दरों आदि के कारण काफी समय से नुकसान उठाने की बात कहती रही है। नया किराया मेट्रो की ब्लू, येलो, रेड, ग्रीन और वायलेट लाइन पर लागू होगा।एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (ऑरेंज लाइन) के किरायों में कोई बदलाव नहीं होगा।

जब दिल्ली मेट्रो ने 25 दिसंबर 2002 को अपनी सेवाएं शुरू की थीं तो न्यूनतम किराया चार रुपए और अधिकतम किराया आठ रुपए था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top