ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना असंभव : चुनाव आयोग 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   20 May 2017 5:13 PM GMT

ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना असंभव  : चुनाव आयोग मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी।

नई दिल्ली (भाषा)। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी संभव है, इसे साबित करने के लिए चुनौती तीन जून से शुरू होगी। भारत निर्वाचन आयोग ने मशीन में किसी प्रकार की छेड़छाड़ की संभावना को खारिज करते हुए आज यह घोषणा की।

निर्वाचन आयोग ने एक सप्ताह पहले ही राजनीतिक दलों को चुनौती दी थी कि वे साबित करें कि हालिया विधानसभा चुनावों में प्रयुक्त ईवीएम में धांधली संभव है। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने कहा, ‘‘ईवीएम चुनौती तीन जून से शुरू होगी।''

उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने ईवीएम के भरोसे पर सवाल उठाया है उन्होंने अभी तक अपने दावों के समर्थन में पुख्ता साक्ष्य नहीं दिए हैं। जैदी ने कहा, ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना संभव नहीं हैं।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे ईवीएम तकनीकी रूप से सुदृढ़ हैं और उनमें धांधली संभव नहीं।''

जैदी ने आम आदमी पार्टी के दावों को खारिज किया कि ईवीएम में धांधली संभव है, उन्होंने कहा मशीन में कोई छेड़छाड़ संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि चुनावी प्रक्रिया को बेहतर बनाना सभी पक्षों की जिम्मेदारी है और निर्वाचन आयोग इस संबंध में सभी जरुरी कदम उठा रहा है।

कई प्रमुख राजनीतिक दलों का दावा है कि ईवीएम से लोगों का विश्वास उठ गया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top