फसल बीमा योजना का लाभ ढेर सारे किसानों को कैसे मिले जनिए सरकार की नई योजना

फसल बीमा योजना का लाभ ढेर सारे किसानों को कैसे मिले जनिए सरकार की  नई योजनाप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को तेजी से लागू करने के लिए सरकार अगले महीने एक पेशेवर टीम को तैनात करेगी। इसके अलावा सरकार ने वर्ष 2018-19 के लिए इस योजना का दायरा बढ़ाकर सकल फसल क्षेत्र के 50 फीसदी तक फैलाने का लक्ष्य रखा है। योजना के तहत विभिन्न कमियों को दूर करने के लिए कृषि मंत्रालय ने इससे जुड़े नियम-विनियम में बदलाव किया है जिसे अगले 15 दिन में जारी किया जाए। सरकार ने इसके मौजूदा पोर्टल पर भी नए फीचर डाल दिए हैं।

सरकार ने यह योजना वर्ष 2016 में पेश की थी। इसमें किसानों को मामूली प्रीमियम देना होता है और उन्हें उनके फसल नुकसान का पूरा दावा मिलता है। इस योजना को 25 राज्यों में लागू किया गया है। फसल वर्ष 2016-17 में इस योजना के तहत 5.70 करोड़ किसानों ने बीमा पॉलिसी की खरीद की।

ये भी पढ़ें- मोदी और योगी बोलें - आलू चिप्स और मैंगो पल्प बनाने में सबको पीछे छोड़ देगा यूपी

ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अंब्रैला सुरक्षा में कई छेद हैं सरकार !

उद्योग मंडल फिक्की द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, इस योजना को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। बीमा कवर भी बढ़ाया गया है। लेकिन अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। प्रयास किए जा रहे हैं कि और किसानों को इस योजना का लाभ सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि अभी यह 30 फीसदी फसल क्षेत्र तक पहुंची है। अगले वित्त वर्ष के लिए इसका लक्ष्य 50 फीसदी तय किया गया है।

ये भी पढ़ें- यूपी संग किस रिश्तों को याद कर विश्व में सबसे अधिक ट्रैक्टर बेचने वाले यह उद्योगपति भावुक हो गए

ये भी पढ़ें- 23 फरवरी को दिल्ली घेरने के लिए देशभर के किसानों ने फिर भरी हुंकार

मंत्रालय में संयुक्त सचिव आशीष भूटानी के विचार में सरकार की टीम बहुत छोटी है और मार्च तक एक पेशेवर प्रबंधन टीम लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि करीब 20 पेशेवरों की नियुक्ति की जाएगी ताकि योजना से जुड़े सभी मुद्दों का समग्र तौर पर समाधान किया जा सके।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अभी ये कमियां हैं...

  • किसानों को फसल के नुकसान पर तुरंत मदद नहीं मिल पाती है।
  • फसल बीमा योजना के पोर्टल में कई कमियां हैं।
  • कवर किसानों का डाटा पोर्टल पर अपलोड करने में बैंक को दिक्कत
  • इस वजह से बीमा कंपनियों को नहीं मिल पा रहा डाटा, जिससे क्‍लेम मिलने में दिक्‍कत
  • समय पर प्रीमियम जमा कराने में राज्‍य सरकारें कर रहीं ढिलाई
  • बिना प्रीमियम किसानों को क्‍लेम मिलने में दिक्कत
  • अपनी इच्‍छा से फसल बीमा खरीदने वाले किसानों की संख्‍या सिर्फ 10 फीसदी

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top