प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चार्टर्ड एकाउंटेंटों को चेतावनी, कालाधन रखने वालों को आगाह करें 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   2 July 2017 2:38 PM GMT

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चार्टर्ड एकाउंटेंटों को चेतावनी, कालाधन रखने वालों को आगाह करें भोपाल में जीएसटी के लागू होने की खुशी में पटाखे जलाते लोग।

नई दिल्ली (भाषा)। नोटबंदी के बाद की गई कार्रवाई का ब्योरा देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार ने एक लाख से अधिक कंपनियों का पंजीकरण एक झटके में रद्द कर दिया है और 37,000 से अधिक खोखा कंपनियों की पहचान की गई है जिनपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सनदी लेखाकारों की संस्था इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर चोरी में लगी कंपनियों पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद आंकड़ों की तह में जाने से दिखा है कि तीन लाख से अधिक कंपनियां संदिग्ध लेन-देन में लिप्त थीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीए समुदाय से अपील की कि वह लोगों को कर के दायरे में लाने की शपथ लें, न कि यह बखान करें कि उन्होंने अपने कितने ग्राहकों को कर चुकाने से बचाया है। उन्होंने सीए समुदाय को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि उन्होंने उनसे सवाल किया कि अबतक गड़बड़ी के मामले में समुदाय के केवल 25 सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई ही क्यों हुई है जबकि 1400 से अधिक मामले वर्षों से लंबित हैं।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मोदी ने कहा कि एक कड़वी सच्चाई है कि देश में केवल 32 लाख भारतीयों ने दर्शाया है कि उनकी आमदनी सलाना 10 लाख रुपए से ऊपर है जबकि करोड़ों लोग ऐसे हैं जो ऊंचे पेशों में लगे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने चार्टर्ड एकाउंटेंटों से कहा कि यदि कालाधन रखने वाले किसी को जानते हों तो वे उन्हें आगाह करें कि उन्हें नहीं बख्शा जाएगा। उन्होंने कहा कि कालाधन के खिलाफ सरकार के कदमों का असर स्विटरजरलैंड के बैंकों के ताजा आंकड़ों से स्पष्ट झलक रहा है, वहां जमा भारतीयों का धन घटकर रिकार्ड न्यूनतम स्तर पर आ गया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top