मनमोहन के खिलाफ टिप्पणी पर लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा, प्रश्नकाल बाधित 

मनमोहन  के खिलाफ टिप्पणी पर लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा, प्रश्नकाल बाधित संसद का शीतकालीन सत्र।

नई दिल्ली (भाषा)। शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन भी लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कथित टिप्पणी का मुद्दा उठाया और इस मुद्दे पर कांग्रेस सदस्यों के भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही 11 बजकर 35 मिनट पर दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

आज सदन की कार्यवाही शुरू होने पर जैसे ही अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल शुरू करने का निर्देश दिया, कांग्रेस सदस्य पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ कथित टिप्पणी का विषय उठाने लगे। कांग्रेस सदस्य इस बारे में अपनी बात रखना चाहते थे लेकिन अध्यक्ष ने इसकी अनुमति नहीं दी। इसके विरोध में कई कांग्रेस सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। कांग्रेस सदस्य प्रधानमंत्री सदन में आओ, प्रधानमंत्री माफी मांगो जैसे नारे लगा रहे थे।

शोर शराबे के बीच ही लोकसभा अध्यक्ष ने प्रश्नकाल को आगे बढ़ाते हुए कुछ प्रश्न लिए। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लकार्जुन खडगे ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व सेना प्रमुख, पूर्व विदेश सचिव का अपमान हुआ है और आप हमारी बात सुनने को तैयार नहीं हैं। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि अब सभी चुनाव हो चुके हैं, जनादेश आ गया है और अब आप प्रश्नकाल चलने दें।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इसके बाद भी कांग्रेस सदस्यों का शोर शराबा जारी रहा। खडगे ने कहा कि इस विषय को चुनाव से न जोड़ें।

चुनाव हो चुका है, जनादेश मिल चुका है, पूरा सदन प्रश्नकाल में शामिल होना चाहता है, केवल कांग्रेस इसमें बाधा डाल रही है. मैं कांग्रेस से निवेदन करना चाहूंगा कि वह कार्यवाही में शामिल हो।
अनंत कुमार संसदीय कार्य मंत्री

कांग्रेस सांसद सुनील जाखड ने कहा, मैं सरकार को चुनौती देना चाहूंगा कि वह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ केस दर्ज करें।

देश की सुरक्षा का विषय सर्वोपरि है, देश की सुरक्षा खतरे में है, देश के खिलाफ षड्यंत्र बंद होना चाहिए, अगर सरकार में साहस है तब वह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करे।
सुनील जाखड सांसद कांग्रेस

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने एक बार फिर कांग्रेस सदस्यों से सदन की कार्यवाही चलने देने का आग्रह किया लेकिन कांग्रेस सदस्यों का शोर शराबा जारी रहा।

इस बीच कुछ कांग्रेसी सदस्य आसन के सामने नारेबाजी भी करते रहे। वह लोग पूर्व प्रधानमंत्री का अपमान, नहीं सहेंगे, नहीं सहेंगे और प्रधानमंत्री मांफी मांगे के नारे लगा रहे थे।

इस पर अध्यक्ष ने कहा कि अगर सदस्य सदन की कार्यवाही नहीं चलने देना चाहते हैं तब ऐसा स्पष्ट कर दें। इस तरह सदन की कार्यवाही बाधित करना ठीक नहीं है। इसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 11 बजकर 35 मिनट पर दोपहर 12 बजे तक के लिये स्थगित कर दी।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top