Top

पते के प्रमाण के रूप में अब मान्य नहीं होगा पासपोर्ट 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   13 Jan 2018 12:12 PM GMT

पते के प्रमाण के रूप में अब मान्य नहीं होगा पासपोर्ट पासपोर्ट।

नयी दिल्ली (भाषा)। पासपोर्ट संभवत: अब पते के वैध प्रमाण के रूप में काम नहीं करेगा क्योंकि विदेश मंत्रालय ने यात्रा दस्तोवज के आखिरी पन्ने पर पासपोर्ट धारक का पता प्रकाशित नहीं करने का फैसला किया है। पासपोर्ट के आखिरी पन्ने पर पिता का या कानूनी अभिभावकों के नाम, धारक की मां, पत्नी के नाम और उनका पता अंकित होता है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, पासपोर्ट का आखिरी पन्ना अब प्रकाशित नहीं होगा, ईसीआर (इमग्रिेशन चेक रक्विायर्ड) स्थिति वाले पासपोर्ट धारकों को नारंगी रंग के पासपोर्ट जैकेट के साथ पासपोर्ट जारी किया जाएगा और गैर-ईसीआर स्थिति वाले लोगों को नीले रंग का पासपोर्ट मिलता रहेगा।

तीन सदस्यीय एक समिति की सिफारिशें मंजूर कर ली गईं और फैसला किया गया कि पासपोर्ट और पासपोर्ट अधिनियम, 1967 और पासपोर्ट नियम, 1980 के तहत जारी किए गए दूसरे यात्रा दस्तावेजों का आखिरी पन्ना अब से प्रकाशित नहीं किया जाएगा। समिति के सदस्यों में विदेश मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अधिकारी शामिल थे।।

बयान के अनुसार समिति ने पासपोर्ट आवेदनों से संबंधित विभिन्न मुद्दों की समीक्षा की। इनमें इस बात की समीक्षा शामिल थी कि क्या मां/बच्चे ने इस बात पर जोर दिया है कि पासपोर्ट में पिता के नाम का उल्लेख नहीं हो। साथ ही इसमें एकल अभिभावक के बच्चे और गोद लिए गए बच्चे से जुड़े मुद्दे भी शामिल थे।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

नासिक स्थित भारतीय सुरक्षा प्रेस (आईएसपी) नई पासपोर्ट पुस्तिकाएं तैयार करेगा और जब तक नए दस्तावेज तैयार नहीं हो जाएं, पासपोर्ट के अंतिम पन्ने पर पता प्रकाशित होता रहेगा। मौजूदा पासपोर्ट की मियाद पासपोर्ट पुस्तिका पर अंकित तिथि तक बनी रहेगी।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.