प्रधानमंत्री सहित नए सदस्यों ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ

प्रधानमंत्री सहित नए सदस्यों ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ

लखनऊ। सत्रहवीं लोकसभा के पहले सत्र में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह सहित नवनिर्वाचित सदस्यों ने लोकसभा की सदस्यता की शपथ ली। प्रधानमंत्री मोदी ने सदन के नेता होने के कारण सबसे पहले शपथ ली। उन्होंने हिंदी में शपथ ली। प्रधानमंत्री मोदी के बाद कांग्रेस के सदस्य के. सुरेश, बीजद के बी. महताब और भाजपा के ब्रजभूषण शरण सिंह ने शपथ ली। सुरेश और सिंह ने हिंदी और महताब में उड़िया में शपथ ली।

सदन के कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने पीठासीन अध्यक्षों के जिस पैनल की घोषणा की उसमें ये तीनों सदस्य- के सुरेश, ब्रजभूषण शरण सिंह और बी. महताब शामिल हैं। इन तीनों सदस्यों के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रसायन एवं उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और स्मृति ईरानी सहित मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने भी शपथ ली। हर्षवर्धन, श्रीपद नाइक, अश्वनी कुमारी चौबे और प्रताप सारंगी ने संस्कृत भाषा में शपथ ली।

स्मृति ईरानी का नाम शपथ के लिए पुकारे जाने के बाद भाजपा के कई सदस्यों ने जोरदार ढंग से मेजें थपथपाईं। दरअसल, ईरानी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अमेठी से हराकर लोकसभा पहुंची हैं। पश्चिम बंगाल कोटे से मंत्रियों बाबुल सुप्रियो और देबश्री चौधरी के नाम शपथ के लिए पुकारे जाने के बाद भाजपा सदस्यों ने 'जय श्री राम' के नारे लगाए।

गौरतलब है कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सामने कुछ भाजपा कार्यकर्ताओं ने जय श्री राम के नारे लगाए थे जिस पर उन्होंने नाराजगी जताई थी। केन्द्रीय मंत्री और अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने पंजाबी और भारी उद्योग मंत्री एवं शिवसेना नेता अरवन्दि सावंत ने मराठी भाषा में शपथ ली। मंत्रियों के बाद सदन के अन्य सदस्यों ने शपथ ली।

पढ़ें - केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी ने समेत इन मंत्रियों ने संभाला अपने कार्यक्षेत्र का पदभार

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top