रोज़ थोड़ी मात्रा में शराब लेने से भी महिलाओं को हो सकता है इस जानलेवा बीमारी का ख़तरा

रोज़ थोड़ी मात्रा में शराब लेने से भी महिलाओं को हो सकता है इस जानलेवा बीमारी का ख़तराकैंसर सेल

लखनऊ। शराब पीने को लेकर अक्सर नई-नई रिसर्च आती रहती हैं। पहले आई कुछ रिपोर्ट्स में ये भी कहा गया था कि अगर रोज़ कम मात्रा में शराब ली जाए तो यह नुकसान नहीं करती बल्कि इसके कुछ फायदे होते हैं लेकिन हाल ही में आई वर्ल्ड कैंसर रिसर्च फंड की एक नई रिपोर्ट इस बात को गलत साबित करती है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, हर रोज़ आधा ग्लास वाइन या एक छोटी बीयर पीने से भी महिलाओं में स्तन कैंसर का ख़तरा बढ़ जाता है।

महिलाओं में होने वाला सबसे आम कैंसर

भारत में हर साल स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। यहां प्रति एक लाख महिला में 30 महिलाएं स्तन कैंसर का शिकार हैं। अंग्रेजी मेडिकल जर्नल, द लांसर, के मुताबिक, भारत में 20 से 25 साल तक की लड़कियों में ये बीमारी बहुत तेजी से फैल रही है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, भारत में हर साल 1,95,300 महिलाओं की मौत कैंसर से होती है और इनमें से 50 प्रतिशत मौतों का कारण स्तन कैंसर होता है। आंकड़ों के मुताबिक, शहरी क्षेत्र में 22 में से एक महिला और ग्रामीण क्षेत्र में 60 में से एक महिला को अपने जीवनकाल में स्तन कैंसर होने की संभावना होती है। ब्रिटेन में भी यह महिलाओं में होने वाला सबसे आम कैंसर है। वहां हर आठ में से एक महिला अपने जीवनकाल में एक बार ज़रूर स्तन कैंसर की चपेट में आती है।

ये भी पढ़ें : अब रक्त की सिर्फ एक बूंद से पता चलेगा कैंसर है या नहीं

गुत्थी जो नहीं सुलझी

हालांकि वैज्ञानिक अब तक यह बताने में नाकाम हैं कि कुछ लोगों को कैंसर क्यों होता है और कुछ को नहीं। इसके पीछे जीवनशैली से लेकर हॉर्मोन का स्तर और दूसरी मेडिकल स्थितियां भी होती हैं। दरअसल यह बहुत जटिल है और सिर्फ़ एक फ़ैक्टर पर फ़ोकस करना ठीक नहीं। कुछ फ़ैक्टर हैं जिन पर हम नियंत्रण ही नहीं कर सकते, जैसे लिंग, उम्र, लंबाई, जीन और पीरियड्स शुरू होने का समय। रिसर्च बताती हैं कि अगर आपकी उम्र 50 से ज़्यादा है, आपकी माहवारी बंद हो चुकी है और आपके परिवार में स्तन कैंसर का इतिहास है तो आप भी ख़तरे में हैं। ऐसा भी माना जाता है कि अगर किसी लड़की को 12 की उम्र से पहले माहवारी शुरू हो गई और उसी लंबाई सामान्य से ज़्यादा है तो इससे भी स्तन कैंसर का ख़तरा बढ़ सकता है।

ये भी पढ़ें : स्तन कैंसर : जागरूकता ही है एकमात्र इलाज

इस तरह कम हो सकता है ख़तरा

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर महिलाएं नियमित व्यायाम करें, वजन को संतुलित रखें, पौष्टिक भोजन लें तो स्तन कैंसर के ख़तरे को कम कर सकती हैं। 100 से ज़्यादा अध्ययनों के विश्लेषण के आधार पर यह रिपोर्ट बनाई गई। इन अध्ययनों में 1.2 करोड़ महिलाओं की मेडिकल हिस्ट्री का अध्ययन किया गया था।

मिले पर्याप्त सबूत

वैज्ञानिकों को पर्याप्त सबूत मिले कि हर रोज़ एक छोटा ग्लास वाइन (10 ग्राम अल्कोहल), मासिक धर्म बंद होने के बाद महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर के ख़तरे को 9 फ़ीसदी बढ़ा देता है। इसका मतलब है कि 100 महिलाओं के समूह में क़रीब 13 को स्तन कैंसर हो सकता है और अगर वे सभी रोज़ाना एक अतिरिक्त छोटा ग्लास वाइन पिएं तो इस समूह में एक मरीज़ की संख्या और बढ़ सकती है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top