कम कमाने वाले व्यक्ति अपने रिश्तों का अधिक आनंद लेते हैं

कम कमाने वाले व्यक्ति अपने रिश्तों का अधिक आनंद लेते हैंअधिक आमदनी आपको स्वार्थी बना सकता है। 

न्यूयार्क (भाषा)। अधिक आमदनी करने वाले व्यक्ति सतर्क हो जाएं, क्योंकि यह आपको स्वार्थी बना सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक, अधिक आमदनी होने से व्यक्ति स्वार्थी हो सकता है जबकि इससे कम कमाने वाले व्यक्ति अपने रिश्तों का अधिक आनंद ले सकते हैं और उनमें दूसरों के साथ जुड़ने की क्षमता होती है।

अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के पाउल पिफ ने अपने अध्ययन में बताया, ज्यादातर लोग पैसे के बारे में सोचते हैं कि उसकी निरंतरता अच्छा है, लेकिन हाल में हुई कुछ शोधों में यह सामने आया है कि ऐसा नहीं हो सकता है, कई मामलों में, खुशियों के लिए रुपए की आवश्यकता नहीं होती है।

इमोशन पत्रिका में छपी एक अध्ययन के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने राष्ट्रीय स्तर पर यह अध्ययन किया और इसमें 1,519 लोगों को शामिल किया।

प्रतिभागियों से उनके घर में होने वाली आमदनी के बारे में पूछा और उनके सवालों के जवाबों की एक श्रृंखला के आधार पर सात विशिष्ट भावनाओं को अनुभव करने वाली प्रवृत्ति को मापने के लिए एक खाका तैयार किया गया जिसे खुशी पाने का मूलाधार माना जाता है, इन भावनाओं में मनोरंजन, भय, करणा, संतोष, उत्साह, प्रेम और गौरव जैसी श्रेणी बनाई गई थी।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उदाहरण के लिए करुणा को मापने के लिए दूसरों की मदद करने से अंदर गर्मजोशी महसूस होने जैसी प्रतिभागियों के अलग-अलग बयानों के साथ उनके जुड़ाव को मापा गया।

प्रतिभागियों में सामाजिक-आर्थिक रुप से सशक्त लोगों में पाया गया कि वे भावनाओं का अनुभव करने के बजाय उनकी बड़ी प्रवृत्ति आत्मकेन्द्रित थी। कम आमदनी वाले व्यक्तियों में पाया गया कि वे अन्य लोगों के साथ भावनात्मक रूप से अधिक जुड़े हुए हैं।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top