निर्मल बाबा- छठी इंद्री के नाम कृपा बरसाने वाले बाबा पर आस्था के नाम पर खिलवाड़ का आरोप

निर्मल बाबा- छठी इंद्री के नाम कृपा बरसाने वाले बाबा पर आस्था के नाम पर खिलवाड़ का आरोपनिर्मल  बाबा

लखनऊ। कृपा वाले बाबा के नाम से प्रसिद्ध निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह नरूला पर धर्म और आस्था के नाम पर लोगों से करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है। वो अपने भक्तों को समोसा से लेकर पिज्जा तक खाने की सलाह देते हैं। कुछ साल पहले तो वो कई टीवी चैनलों पर छाए थे और हजारों भक्त उन पर करोड़ों रुपए लुटा रहे थे।

कपड़े की दुकान से लेकर ईंट भट्टे तक के धंधे में आज आजमा चुके निर्मलजीत सिंह नरुला ने आखिर में बाबा का चोला पहला तो फिर उनपर जमकर नोटों की बरसात हुई। निर्मल दरबार में हजारों रुपए की फीस देकर लोग पहुंचते थे। निर्मल बाबा अपनी छठी इंद्री को सक्रिय बताते हैं और उसी के नाम पर लोगों पर कृपा बरसाते हैं, जिसके बहाने वो रुपए ऐंठते हैं। 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरागांधी की हत्या के बाद भड़के सिख विरोध दंगों के कारण रांची में अपना सबकुछ बेच वो दिल्ली पहुंच गया और कुछ वर्षों बाद यहीं ‘निर्मल दरबार’ लगाना शुरु किया।

यह भी पढ़ें : देश के फ़र्ज़ी बाबाअों की ज़ारी हुई लिस्ट, राधे मां से लेकर आसाराम जैसे 14 बाबाओं का है नाम

शातिर दिमाग के निर्मलजीत सिंह नरुला ने लोगों से पैसे कमाने का नया तरीका अपनाया और उनकी कमाई पर 10 फीसदी ‘दसबंध’ देने को कहा। दिल्ली के ग्रेटर कैलाल में पॉश इलाके में रहने वाले निर्लम बाबा के पास अरबों रुपए की संपत्ति बताई जाती है। लगातार विवादों में नाम आने के बाद दिग्गत नेता नामधारी सिंह ने उनके रिश्ता तोड़ लेने का वादा किया था। मूलरूप से झारखंड निवासी निर्मल बाबा ने निर्मल बाबा समागम में शामिल होने की फीस करीब 3870 रुपए तो निर्मल बाबा शो में शामिल होने के लिए 6450 फीस लगाई। ये पंजीकरण बाकायदा वेबसाइट के माध्यम से होते थे।

किसी देवता या लक्ष्मी जी के कारण कृपा रुकी होने की बात कर वो काल भैरव को शराब चढाने से लेकर छोटे भटूरे, समोसे और गोलगप्ते खाने तक की सलाह देते थे। उनका दावा था कि उनका तीसरा नेत्र खुला है। कई लोगों की शिकायत के बाद उनके प्रोग्राम कुछ दिनों के लिए बंद हो गए थे, लेकिन निर्मल दरबार लगाने का उनका धंधा अब भी जारी है।

संबंधित ख़बरें :

इन बाबाओं पर भी लगे हैं गंभीर आरोप, पढ़िए किस किस का नाम

बाबा रामपाल : राम रहीम की तरह उसके भक्तों ने खूब किया था हंगामा

भीमानंद - 600 कालगर्ल थीं इस ‘इच्छाधारी’ के सेक्स रैकेट में !

Share it
Top