अब डेबिट कार्ड से 2000 रुपये तक के लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं  

अब डेबिट कार्ड से 2000 रुपये तक के लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं  डेबिट कार्ड, भीम ऐप से 2,000 रुपये तक के लेन-देन पर नहीं लगेगा कोई चार्ज

नोटबंदी के बाद कैशलेस पेमेंट में आई तेजी ज्यादा दिन तक नहीं रुकी और लोग फिर कैश भुगतान करने लगे। अब आपको डेबिट कार्ड, भीम एप तथा अन्य पेमेंट माध्यमों के जरिये 2,000 रुपये तक के लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं देना होगा। यह सुविधा सोमवार से लागू हो गई है। सरकार अब 1 जनवरी, 2018 से दो साल तक मर्चेंट डिस्काउंट दर (एमडीआर) का बोझ उठा रही है। बैंकों को इसका भुगतान सरकार करेगी।

इससे सरकार पर 2,512 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले महीने डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन के लिए डेबिट कार्ड, भीम यूपीआई या आधार आधारित अन्य भुगतान प्रणालियों के जरिये 2,000 रुपये तक के लेनदेन पर एमडीआर शुल्कों का बोझ सरकार द्वारा उठाने के प्रस्ताव को सहमति दी थी।

ये भी पढ़ें-जानिये किन नियमों का आप पर होगा सीधा असर 2018 में

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले महीने डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन देने के लिए डेबिट कार्ड, भीम यूपीआई या आधार आधारित अन्य भुगतान प्रणालियों के जरिये 2,000 रुपए तक के लेनदेन पर मर्चेंट डिस्काउंट रेट (एमडीआर) शुल्कों का बोझ सरकार द्वारा उठाने के प्रस्ताव को सहमति दी थी। वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने ट्वीट कर कहा कि हैप्पी डिजिटल 2018, दिसंबर तिमाही में भीम एप के जरिये लेनदेन 86 प्रतिशत बढ़ा। इस दौरान भीम एप के जरिये 13,174 करोड़ रुपए के 14.56 करोड़ लेनदेन हुए।

उन्होंने आगे कहा कि डिजिटल भुगतान को और प्रोत्साहन देने के लिए सरकार डेबिट कार्ड-भीम से 2,000 रुपए तक के लेनदेन पर शुल्क की भरपाई करेगी। दुकानदारों पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। कुमार ने कहा कि डिजिटल अपनाएं और पारदर्शिता लाएं।

सरकार 1 जनवरी, 2018 से दो साल तक एमडीआर का बोझ उठाएगी। बैंकों को इसका भुगतान सरकार करेगी। इससे सरकार पर 2,512 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में पिछले महीने हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला किया गया था।

ये भी पढ़ें-नए साल पर आपको क्या सौगात मिलने वाली है, जानें यहां

Share it
Share it
Share it
Top