‘रोमियो नहीं, कृष्ण करते थे महिलाओं से छेड़खानी’

‘रोमियो नहीं, कृष्ण करते थे महिलाओं से छेड़खानी’मशहूर वकील प्रशांत भूषण।

नई दिल्ली। मशहूर वकील प्रशांत भूषण ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड की आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुली चुनौती दी है। उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा कि रोमियो ने अपने जीवन में केवल एक ही लड़की से प्यार किया, जबकि कृष्ण तो कई लड़कियों के साथ छेड़खानी करने के लिए प्रसिद्ध हैं। क्या मुख्यमंत्री आदित्यनाथ में इतनी हिम्मत है कि वह अपने मुस्तैद दस्ते का नाम ऐंटीकृष्ण स्क्वॉड रख सकें?

मालूम हो कि भूषण से पहले भी कई लोग इस स्क्वॉड का नाम ऐंटी-रोमियो रखने पर आपत्ति जता चुके हैं। आलोचकों का कहना है कि रोमियो शेक्सपियर के एक मशहूर नाटक का पात्र है और रोमियो-जूलियट की प्रेम कहानी अपने आपसी प्यार और समर्पण के लिए पूरी दुनिया में विख्यात है।

प्रशांत भूषण की इस आलोचना पर बीजेपी के प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा ने जवाब देते हुए अपने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ कृष्ण को समझ ने में कई जन्म लेने पड़ेंगे। कितने आसानी से कृष्ण को राजनीति में घसीट लाए। दुःख की बात है।’’

UP में नई सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने चुनावी वादे पर अमल करते हुए महिलाओं के साथ छेड़खानी की घटनाओं को रोकने के लिए ऐंटी-रोमिया स्क्वॉड बनाने का ऐलान किया था। BJP ने प्रदेश चुनाव के समय इस मुद्दे को अपने चुनावी घोषणापत्र में काफी प्रमुखता से शामिल किया था। महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ और उनके शोषण के अलावा इस स्क्वॉड का एक मकसद विवादित 'लव जिहाद' को रोकना भी है। पिछले दिनों ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड काफी चर्चा में रहा है।

Share it
Top