एक महीना योगी का : यूपी की जनता ने अवैध बूचड़खानों पर पाबंदी को माना सबसे अच्छा फैसला

एक महीना योगी का : यूपी की जनता ने अवैध बूचड़खानों पर पाबंदी को माना सबसे अच्छा फैसलागांव कनेक्शन का सर्वे

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का पद संभालने के साथ ही सबसे पहले अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया और प्रदेश की जनता ने उनके इस फैसले को दिल खोलकर समर्थन दिया। गांव कनेक्शन द्वारा किए गए सर्वे में 38.1 प्रतिशत लोगों की नजर में बूचड़खानों पर प्रतिबंध सबसे बड़ा और लोकप्रिय फैसला है।

हालांकि योगी सरकार फैसला अवैध बूचड़खानों को बंद करना उनका लोकप्रिय फैसला साबित हुआ लेकिन इसने कई विवादों को भी जन्म दिया। इस फैसले के साथ ही बूचड़खानों में काम करने वाले लोगों के बेरोजगार होने की समस्या का मुद्दा उठाया गया। चिकन और मटन के दाम बढ़ गए और चिड़ियाघर के मांसाहारी जानवरों के लिए मांस का सही मात्रा में प्रबंध करना मुश्किल हो गया। पर इस सबके बावजूद प्रदेश की जनता ने इस फैसले पर योगी को पूरा समर्थन दिया।

जनता को लगता है कि अवैध बूचड़खानों को बंद करने से गौ हत्या रुकेंगी और पशुओं का अवैध कटान बंद होगा जो बहुत ही जरूरी है। प्रदेश की जनता योगी सरकार के इस फैसले में उनके साथ है और चाहती है कि हर स्थिति में यह प्रतिबंध कायम रहे।

ये भी पढ़ें- #Exclusive एक महीना योगी का : फैसलों की परीक्षा में भाजपा सरकार फर्स्ट डिवीजन पास

यही नहीं महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा भी जनता की पसंद में दूसरे नंबर पर रहा। भाजपा ने अपने घोषण पत्र में ही कहा था कि अगर उनकी सरकरी बनी तो प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा पर कड़े फैसले होंगे। सरकार बनते ही भाजपा ने प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया। सूबे के तमाम शहरों में एंटी रोमियों स्क्वायड सड़कों पर नजर आने लगी हैं। गर्ल्स स्कूल और कॉलेज के पास लड़कों पर विशेष नजर रखी जा रही है। मनचलों को हिरासत में लिया जा रहा है। पुलिस की टीम सक्रिय हो गई है।

ये भी पढ़ें- #Exclusive एक महीना योगी का : क्या कहते हैं यूपी के गाँव और शहरों के लोग

प्रदेश की जनता भी योगी सरकार के इस फैसले को सराहा रही है। सत्ता में आने के बाद प्रदेश की योगी सरकार ने अब तक कई बड़े फैसले लिए हैं। जनता की नजर में एंटी रामियो स्क्वायड टीम का गठन प्रदेश सरकार का दूसरा सबसे असरदार फैसला है। गांव कनेक्शन के सर्वे के अनुसार 25.4 प्रतिशत लोगों ने माना कि प्रदेश में एंटी रोमियो का गठन दूसरा सबसे असरदार फैसला है। वहीं 23.7 फीसदी लोगों ने वीआईपी कल्चर को खत्म करने और 12.9 प्रतिशत लोगों ने सरकार कार्यालयों में पान मसाला पर प्रतिबंध लगाने को असरदार माना।

Share it
Top