ऑनलाइन गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ पर सरकार ने लगायी रोक

ऑनलाइन गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ पर सरकार ने लगायी रोकब्लूव्हेल चैलेंज

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्र सरकार ने ऑनलाइन कंप्यूटर एवं मोबाइल गेम 'ब्लूव्हेल चैलेंज' खेलने वाले बच्चों पर दुष्प्रभावों की शिकायत के बाद इस गेम पर रोक लगाते हुये प्रमुख सर्च इंजन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को यह गेम डाउनलोड करने संबंधी लिंक हटाने को कहा है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सर्च इंजन गूगल इंडिया, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और याहू इंडिया के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप को ब्लूव्हेल चैलेंज गेम को डाउनलोड करने की सुविधा या इससे जुडा कोई लिंक अपने प्लेटफॉर्म से तुरंत हटाने को कहा है। मंत्रालय के वरिष्ठ निदेशक अरविंद कुमार द्वारा गत 11 अगस्त को जारी निर्देश में ब्लूव्हेल चैलेंज गेम के अलावा इससे मिलते जुलते नाम वाले ऑनलाइन गेम के लिंक भी हटाने को कहा है।

ये भी पढ़ें- भारतीय राष्ट्रीय ध्वज वर्तमान रूप में पहुंचने से पहले अनेक पड़ावों से गुजरा है

इस गेम को खेलने वाले बच्चों में आत्महत्या की प्रवृत्ति पनपने की घटनाओं की शिकायतों के बाद केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य राज्य सरकारों की मांग पर केंद्र सरकार ने 'ब्लू व्हेल चैलेंज' पर रोक लगाई है। इससे पहले केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी सरकार से इस गेम को प्रतिबंधित करने की कल मांग की थी। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को इस गेम के बारे में शिकायतें मिलने के बाद यह पहल की गयी है।

मंत्रालय ने इस गेम पर रोक लगाने के साथ ही सभी सर्च इंजन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को ब्लूव्हेल गेम को डाउनलोड करने का लिंक हटाने के निर्देश दिए हैं, जिससे इसका इस्तेमाल या सर्च करना मुमकिन न हो। एक अधिकारी ने बताया कि इस गेम पर प्रतिबंध की आशंका को देखते हुये सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पहले ही कई छद्म या प्रॉक्सी यूआरएल या आईपीएड्रेस बना लिये गये थे। इसके मद्देनजर ही सरकार ने अपने निर्देश में सर्च इंजन और सोशल मीडिया वेबसाइट से ब्लूव्हेल चेलैंज गेम से मिलते जुलते नाम वाले या यूआरएल वाले गेम के लिंक भी हटाने को कहा है।

ये भी पढ़ें- भारत-पाकिस्तान को मिलाता पीस एंथम सोशल मीडिया पर वायरल, देखें वीडियो

Share it
Top