पनामा पेपर के बाद पैराडाइज पेपर  मामला : 714 भारतीयों के नाम लिस्ट में

पनामा पेपर के बाद पैराडाइज पेपर  मामला : 714 भारतीयों के नाम लिस्ट मेंपैराडाइज पेपर मामले में टैक्स चोरी कर मामले से जुड़ी फाइलें सामने आई हैं।

लखनऊ। नोटबंदी को एक साल पूरा होने में महज दो दिन ही बाकी है और पनामा पेपर के बाद अब पैराडाइज पेपर मामले में टैक्स चोरी कर विदेश में काला धन छुपाने के मामले से जुड़ी फाइलें सामने आई हैं। जिनमें कई नामचीन हस्तियों के नाम शामिल हैं। ये खुलासा अमेरिका के इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इन्वेस्टीगेटिव जर्नलिस्ट्स (आईसीआईजे) पैराडाइज पेपर्स में किया गया है। ध्यान देने वाली बात यह कि आईसीआईजे ने ही पिछले साल पनामा पेपर्स के जरिए कई अहम खुलासे किए थे।

'पैराडाइज पेपर्स' में 1.34 करोड़ दस्तावेज शामिल हैं। इनमें से ज़्यादातर ‘एप्पलबी’ नाम की एक लॉ-फर्म से हैं। इस खुलासे के जरिये उन फर्मों और फर्जी कंपनियों के बारे में बताया गया है जो दुनिया भर में अमीर और ताकतवर लोगों का पैसा विदेशों में भेजने में उनकी मदद करते हैं। पैराडाइज पेपर्स लीक में पनामा की तरह ही कई भारतीय राजनेताओं, अभिनेताओं और कारोबारियों के नाम सामने आए हैं। आईसीआईजे के भारतीय सहयोगी मीडिया संस्थान इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इस लिस्ट में कुल 714 भारतीयों के नाम शामिल हैं साथ ही लिस्ट के मुताबिक भारत 19वें स्थान पर है।

ये भी पढ़ें- पनामा पेपर लीक मामले पर खामोश क्यों हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: कांग्रेस

इन भारतीयों के नाम है शामिल

इस खुलासे में वर्तमान में केंद्र सरकार में विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा और बॉलिवुड के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन का भी नाम सामने आया है। इस लिस्ट में अमिताभ बच्चन के बरमूडा में एक कंपनी में शेयर्स होने का भी खुलासा हुआ है। केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा का नाम राजनीति में आने से पहले ओमिड्यार नेटवर्क में साझीदारी को लेकर सामने आया है।

इसके अलावा बीजेपी के राज्यसभा सांसद और कारोबारी आरके सिन्हा की कंपनी एसआईएस सिक्यॉरिटीज का नाम भी सामने आया है। पैराडाइज पेपर्स लीक में अभिनेता संजय दत्त की पत्नी मान्यता दत्त के पुराने नाम दिलनशीं का भी जिक्र है।

इनके अलावा कई दिग्गज हस्तियों का नाम भी पैरेडाइस पेपर की पड़ताल में सामने आए हैं। इनमें प्रमुख हैं-

  • अमिताभ बच्चन
  • नीरा राडिया
  • नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा
  • भाजपा से राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा
  • विजय माल्या

कई कॉर्पोरेट समूहों से जुड़े दस्तावेज़ भी सामने आए हैं। इनमें से प्रमुख हैं...

  • GMR समूह
  • अपोलो टायर्स
  • हेवेल्स
  • हिंदूजा समूह
  • एम्मार एमजीएफ
  • विडियोकॉन
  • हीरानंदानी समूह
  • डीएस कंस्ट्रक्शन
  • यूनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड इंडिया

क्या है एप्पलबी

एप्पलबी एक लॉ-फर्म है। 119 साल पहले बरम्यूडा में रजिस्टर हुई थी। बरम्यूडा शब्द के साथ जिस तरह का रहस्य जुड़ा हुआ है, वैसा ही इस लॉ फर्म के साथ भी है। इसके साथ दुनिया भर के वकील, अकाउंटेंट और बैंकर जुड़े हुए हैं। इतना ताकतवर नेटवर्क होने के बावजूद ये फर्म टैक्स एडवाइज़री (कर सलाह) का काम नहीं करती है। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक ये फर्म अपने क्लाइंट्स के लिए हर तरह के उलटे काम करती है।

ये भी पढ़ें- पनामा पेपर लीक: नवाज शरीफ भ्रष्टाचारी करार, पीएम पद से हटाए गए

उदाहरण के लिए टैक्स चोरी, कम टैक्स देकर याच या प्लेन खरीदना या फिर रियल एस्टेट में पैसा लगाना। एप्पलबी इसके लिए एस्क्रो अकाउंट ( एक तरह का थर्ड पार्टी अकाउंट ) खोलने से लेकर पूरी की पूरी फर्ज़ी कंपनियां तक खड़ी करती है। ये कंपनियां टैक्स हैवन कहलाने वाले देशों में रजिस्टर की जाती हैं। टैक्स हैवन माने ऐसे देश जहां टैक्स दरें बेहद कम हैं।

खेती और रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top