पेट्रोल, डीजल की होगी ‘होम डिलीवरी’, मंत्रालय कर रहा विचार

पेट्रोल, डीजल की होगी ‘होम डिलीवरी’, मंत्रालय कर रहा विचारपेट्रोल पंपों से सालाना 2500 करोड़ रुपये का ईंधन खरीदा जाता है।

नई दिल्ली (भाषा)। पेट्रोलियम मंत्रालय पेट्रोल व डीजल की होम डिलीवरी शुरू करने पर विचार कर रहा है ताकि पेट्रोल पंपों पर भीड़ को कम किया जा सके। मंत्रालय ने सोशल मीडिया ट्विटर पर यह जानकारी दी।

इसके अनुसार पहले बुकिंग करवाने पर पेट्रोल व डीजल की होम डिलीवरी शुरू की जा सकती है। इसके अनुसार हर दिन 3.5 करोड़ लोग देश भर में 59,595 पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल डीजल खरीदने जाते हैं। इस कारण जहां पेट्रोल पंपों पर भीड़ लगती है वहीं अनेक सड़कों पर भी जाम लग जाता है। पेट्रोल पंपों से सालाना 2500 करोड़ रुपये का ईंधन खरीदा जाता है।

मंत्रालय अब चाहता है कि इसमें से कुछ हिस्से की होम डिलीवरी शुरू की जाए। इसके तहत एक मई से चुनींदा शहरों में पेट्रोल व डीजल के दाम में दैनिक बदलाव के साथ इनकी होम डिलीवरी पर भी विचार किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि देश पेट्रोलियम उत्पादों का दुनिया का तीसरा सबसे बडा उपभोक्ता है।

Share it
Share it
Share it
Top