‘मन की बात’ में बोले पीएम- योग भारत की सबसे बड़ी देन, रमजान की दी शुभकामनाएं

‘मन की बात’ में बोले पीएम- योग भारत की सबसे बड़ी देन, रमजान की दी शुभकामनाएंरेडियाे पर मन की बात करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 32वीं बार 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिये देश को संबोधित किया। अपने इस मासिक रेडियो संबोधन की शुरुआत में पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को रमजान की शुभकामनाएं दी। यहां उन्होंने युवाओं में देश के इतिहास और स्वतंत्रता संग्राम को जानने की रुचि पर खुशी जाहिर की। विश्व में योग भारत की सबसे बड़ी देन है। इसके साथ ही योग के प्रति लोगों में रुचि जगाने के साथ ही लोगों से कचरा प्रबंधन का आह्वान किया।

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने योग की खूबियों का जिक्र करते हुए 'सेल्फी विथ डॉटर' की तर्ज पर इस बार तीन पीढ़ियों के साथ योग करने की तस्वीर उन्हें भेजने को कहा है। इसके साथ ही उन्होंने कचरा प्रबंधन पर जोर देते हुए देशवासियों से गीले और सूखे कचरे को अलग-अलग रखने का आह्वान किया, ताकि इनका खाद बनाने या रीसाइकिल करने में इस्तेमाल किया जा सके। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आर के पुरम की दलित बस्ती में पीएम मोदी की ‘मन की बात’ सुन रहे हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मन की बात में क्या बोले मोदी

  • ‘मन की बात’ कार्यक्रम ने मुझे हिन्दुस्तान के हर परिवार का सदस्य बना दिया है।
  • मेरा मानना है कि लोकतंत्र में सरकारों को जवाबदेह होना चाहिए, अपने काम का हिसाब देना चाहिए।
  • स्वच्छता की ओर हर बार नए कदम उठाना है तभी गांधी जी का सपना पूरा हो सकता है।
  • जो कूड़ा-कचरा है, इसको हम व्यर्थ न मानें, वो वेल्थ है, एक रिसोर्स है।
  • इसे सिर्फ गार्बेज के रूप में न देखें।
  • मैं जहां जाता हूं वहां सफाई का उत्सव बन जाता है, मुझे फोन करके लोग इसकी जानकारी दे रहे हैं।
  • योग दिवस पर तीन पीढ़ी के लोग एक साथ योग करें और तस्वीर अप्लोड करें।
  • योग वेलनेस और फिटनेस दोनों की गारंटी है।
  • जून का प्रकृति के साथ जुड़ने का वैश्विक अभियान, हमारा स्वयं का भी अभियान बनना चाहिये।
  • प्रकृति के प्रति प्रेम एक सहज समाज का हिस्सा है, वर्षा ऋतु में वृक्षारोपण को बढ़ावा दें।
  • योग के द्वारा विश्व को हम एक सूत्र में जोड़ चुके हैं।
  • रमजान का पवित्र महीना शांति, एकता को बढ़ावा देने में सहायक होगा।
  • हम गर्व कर सकते हैं कि भारत में सभी धर्म संप्रदाय के लोग एक साथ रहते हैं।
  • रमजान के पवित्र महीने पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।
  • छात्रों ने गर्मी की छुट्टियों में कुछ नया सीखने की कोशिश की है।
  • स्वतंत्रता सेनानियों की लेखनी ने भी आजादी को बल दिया।
  • मैं युवा पीढ़ी को कहूंगा कि आजादी के लिए लोगों ने कैसी यातना झेली थी, सेलुलर जेल जाकर देखें।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top