50 दिन के फैसले पिछले 50 साल के नि‍र्णयों से कहीं बेहतर: जेपी नड्डा

50 दिन के फैसले पिछले 50 साल के नि‍र्णयों से कहीं बेहतर: जेपी नड्डा

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहले 50 दिन के कामकाज का ब्योरा दिया। उन्‍होंने पीएम मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि इस अवधि में हुए नि‍र्णय पिछले 50 वर्षों में हुए फैसलों से कहीं बेहतर हैं और ये देश के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

नड्डा ने कहा कि पिछले 50 दिन में मोदी सरकार जल से लेकर चांद तक तथा गांव, गरीब, किसान, मजदूर, व्यवसायी, छोटे दुकानदार एवं समाज के वंचित वर्गो को मुख्य धारा में शामिल करते हुए देश को आगे ले जाने को समर्पित रही है।

नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के दूसरे कार्यकाल के 50 दिन पूरे होने के अवसर पर नड्डा ने संवाददाताओं से कहा कि मोदी सरकार ने पिछले पचास दिनों में जो फैसले लिए हैं, वो भवि‍ष्य के लिए अच्छे संकेत दे रहे हैं। पिछले 50 दिन में जो फैसले हुए हैं वो पिछले 50 वर्षों में हुए फैसलों से कहीं बेहतर हैं। जो देश के विकास में मील का पत्थर साबित होंगे।

इसे भी पढ़ें- नहर में बह रहा 'जहर', इसी से खेती कर रहे हैं किसान, नहीं उगा पाते खुद का अनाज

उन्होंने कहा कि 50 दिन में हमने जल से लेकर चांद तक, किसान मजदूर सबको साथ लेकर चलने का प्रयास किया है। इनमें सबसे महत्वपूर्ण फैसला सबको घर, सबको गैस देने का फ़ैसला है। हम 2024 तक सभी ग्रामीण क्षेत्रों के घरों को नल का साफ जल देंगे। यह बहुत क्रांतिकारी नि‍र्णय मोदी सरकार ने लिया है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 1.25 लाख किलोमीटर सड़क बनाने का फैसला लिया गया है। हम गांवों को मजबूत करने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं वि‍त्ति‍य धोखाधड़ी से लोगों को बचाने का प्रावधान किया गया है। हमने श्रमिक सुधार के क्षेत्र में पहल की है जिससे करोड़ों कामगारों को लाभ मिलेगा।

इसके बाद नड्डा ने कहा कि किसानों के लिए 14 सूत्रीय कार्यक्रम बनाया है। छोटे दुकानदार जिनका सालाना टर्नओवर 1.5 करोड़ रुपये का होगा, उन्हें प्रधानमंत्री मानधन योजना से जोड़ा जाएगा। इस फैसले से करीब 3 करोड़ छोटे कारोबारियों को लाभ मिलने वाला है।

इसे भी पढ़ें- UPPSC ने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए जारी किया दो साल का कैलेंडर

उन्होंने कहा कि पांच साल में देश की अर्थव्यवस्था 5000 अरब डॉलर तक पहुंचाने का जो लक्ष्य रखा गया है उसमें एक लाख करोड़ का निवेश आधारभूत ढांचा क्षेत्र में किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने लोकसभा और राज्यसभा में कामकाज की उत्पादकता में वृद्धि होने का भी जि‍क्र किया और कहा कि यह राजनीतिक इच्छाशक्ति के कारण ही संभव हो रहा है।

नड्डा ने कहा कि हम 50 दिनों में यह महसूस कर सकते हैं कि यह सरकार काम कर रही है। हम अपने किए सारे वादे पूरे करेंगे। 100 दिनों के कामकाज का ब्योरा देने की प्रथा है लेकिन हम पहली बार 50 दिनों का ब्योरा दे रहे हैं । (इनपुट भाषा)

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top