देश को मिला सबसे लंबे पुल का तोहफा, प्रधानमंत्री मोदी ने किया उद्धाटन

देश को मिला सबसे लंबे पुल का तोहफा, प्रधानमंत्री मोदी ने किया उद्धाटनउद्धाटन के दौरान नितिन गडकरी भी मौजूद रहे

मअसम। देश के सबसे लंबे नदी पुल का आज प्रधानमंत्री ने उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने पुल पर पैदल चलकर मुआयना भी किया और उसके बारे में जानकारी इकट्ठा की।

ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिणी तट पर स्थित धोला को उत्तरी तट पर स्थित सादिया से जोड़ने वाले इस पुल को भारतीय सेना के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद बताया जा रहा है। उन्हें अब अरुणाचल प्रदेश स्थित भारत-चीन सीमा पर पहुंचने में तीन से चार घंटे कम लगेंगे।

यह पुल शुरू हो जाने से असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच सड़क संपर्क स्थापित हो जाएगा। खास बात यह है कि यह ब्रिज सामरिक रूप से भी अहम होगा। यह पुल 60 टन युद्धक टैंक का भार सह सकता है।

यहां से पीएम धेमाजी जाएंगे जहां गोमुख कृषि केंद्र का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद गुवाहाटी पहुंचेंगे जहां वो एम्स का शिलान्यास करेंगे।

असम-अरुणांचल को जोड़ने वाले इस पुल की लंबाई 9.15 किमी है। 2011 इसके बनने की शुरुआत हुई थी और इस पर करीब 950 रुपए का खर्च आया था। इस दौरान परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहे।

Share it
Top