देश के सबसे लंबे पुल को मोदी ने दिया नया नाम, अब भूपेन हजारिका सेतु से जाना जाएगा

देश के सबसे लंबे पुल को मोदी ने दिया नया नाम, अब भूपेन हजारिका सेतु से जाना जाएगाअसम के तिनसुकिया जिले से संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी

असम। असम में देश के सबसे लंबे धौला-सदिया पुल का उद्घाटन पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज उत्सव मनाया जा रहा है। अगर 2004 में दोबारा बीजेपी की सरकार आई होती तो 10 साल पहले यह पुल मिल जाता। बीच में सरकार बदलने से काम में रुकावट आई। इसी के साथ पुल को भूपेन हजारिका पुल से नया नाम दिया।

असम के तिनसुकिया से प्रधानमंत्री ने कहा, ‘पिछले तीन साल से इस पुल के लिए लगातार प्रयास हुए और आज जब असम में बीजेपी की सरकार एक साल पूरा हो रहा है असम समस्याओं से मुक्त हो रहा है। ऐसे अवसर में आपको ब्रिज समर्पित कर रहा हूं। असम के लिए और पूरे देश के लिए गर्व का विषय है।’

मोदी ने आगे कहा, ‘हमारा मकसद विकास को स्थायी रूप देना है। इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्टर की आवश्यकता पहली होती है। फिजिकल और सोशल इंफ्रास्ट्रक्टर में संतुलित विकास संभव होता है। अरुणांचल और असम को ये पुल जोड़ने के साथ ही इसकी दूरी 165 किमी कम कर रहा है।’ साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि इस पुल की मदद से रोजाना 10 लाख की बचत होगी जो यहां के लोगों के विकास के लिए इस्तेमाल होगा।

Share it
Share it
Share it
Top