Train 18: 'वंदे भारत एक्सप्रेस' को पीएम मोदी 15 फरवरी को दिखाएंगे हरी झंडी, जानिए किराया

Shabnam KhanShabnam Khan   7 Feb 2019 9:42 AM GMT

Train 18: वंदे भारत एक्सप्रेस को पीएम मोदी 15 फरवरी को दिखाएंगे हरी झंडी, जानिए किराया

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 फरवरी को देश की पहली इंजनरहित ट्रेन 'ट्रेन 18' यानी 'वंदे भारत एक्सप्रेस' को हरी झंडी दिखाएंगे। भारत में ही निर्मित यह ट्रेन, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से सुबह 10 बजे रवाना की जाएगी। इससे पहले पीएम का भाषण भी होगा। रेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। पीएम मोदी, इस ट्रेन के एग्ज़ीक्यूटिव चेयर कार में सफर करेंगे। उनके साथ रेलवे के कुछ अधिकारी भी मौदूज रहेंगे।

हाल ही में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस ट्रेन का नाम ट्रेन 18 से बदलकर 'वंदे भारत एक्सप्रेस' किया थ। बिना इंजन वाली इस ट्रेन में 16 डिब्बे हैं। यह ट्रेन दिल्ली से वाराणसी के बीच चलेगी। यह ट्रेन पुरानी शताब्दी एक्सप्रेस की जगह लेगी। यह ट्रेन 97 करोड़ की लागत से करीब 18 महीनों में बनकर तैयार हुई है। इसे रायबरेली के मॉडर्न कोच फैक्ट्री ने बनाया है।

किराया

यह ट्रेन भारत की सबसे तेज़ ट्रेन होगी, साथ ही इसमें कई सारी सुविधाएं भी दी जा रही हैं। इसी वजह से, इस ट्रेन का किराया काफी ज़्यादा है। इस ट्रेन में दिल्ली से वाराणसी तक एसी चेयर कार का किराया 1850 रुपये जबकि एक्जीक्यूटिव क्लास का किराया 3520 रुपये है। इस किराये में कैटरिंग चार्ज भी जुड़ा हुआ है। वहीं वापसी में वाराणसी से दिल्ली के एसी चेयर कार का किराया 1795 रुपये जबकि एक्जीक्यूटिव क्लास का किराया 3470 रुपये है।

क्या है ट्रेन की ख़ासियतें

- यह ट्रेन भारत में चलने वाली सबसे तेज़ गति की ट्रेन है, इसकी रफ्तार अधिकतम 160 किमी प्रति घंटा होगी।

- ट्रेन जीपीएस सिस्टम से लैस है और पूरी तरह से एयरकंडीशन्ड है।

- इस ट्रेन में यात्रियों को ट्रेन की स्पीड की जानकारी मिलती रहेगी। साथ ही, यह भी पता चलेगा कि उन्हें अपने गंतव्य स्थान में पहुंचने में कितना समय लगेगा।

- इस ट्रेन में वाई-फाई की सुविधा भी मौजूद है।

- वंदे भारत एक्सप्रेस में टॉयलेट भारतीय रेलवे की दूसरी ट्रेनों से हटकर हैं। ये काफी सुविधाजनक हैं, बिल्कुल विमान के टॉयलेट की तरह दिखाई देते हैं।

- इस ट्रेन का डिज़ाइन ऐसा है कि यात्री ड्राइवर के केबिन का नज़ारा आसानी से देख सकेंगे।

- इस ट्रेन में टचफ्री ऑटोमैटिक दरवाज़े हैं।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top