खुशखबरी : केंद्र सरकार किसानों का बकाया भुगतान चुकाने के लिए देगी सब्सिडी

खुशखबरी : केंद्र सरकार किसानों का बकाया भुगतान चुकाने के लिए देगी सब्सिडीगन्ना किसानों को मिलेगी बड़ी राहत। फोटो गांव कनेक्शन

नई दिल्ली। लाखों गन्ना किसानों और चीनी उद्योग के लिए खुशख़बरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट ने गन्ना किसानो के बकाए का भुगतान चुकाने के लिए साढ़े 5 रुपए प्रति क्विंटल सब्सिडी देने का फैसला लिया है। बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में इसे मंजूरी दे दी गई है।

चीनी मिलों पर किसानों की बकाया राशि बढ़कर लगभग 20.000 करोड़ रुपए के करीब पहुंच चुकी है। पहली अक्टूबर 2017 से शुरू हुए चालू पेराई सीजन 2017-18 में अभी तक चीनी मिलों पर किसानों के बकाया की राशि बढ़कर 20,000 करोड़ के करीब पहुंच चुकी है तथा इसमें सबसे ज्यादा बकाया उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों पर 12,526 करोड़ रुपये है। उत्तर प्रदेश के बाद सबसे ज्यादा बकाया की राशि महाराष्ट्र और कर्नाटका की चीनी मिलों पर है।

बतादें ऐसे हजारों किसान हैं जिन्होंने चीनी मिलों को गन्ना तो दिया लेकिन दो से तीन महीने बीतने के बावजूद उन्हें भुगतान नहीं मिल पाया है। ऐसे में कुछ किसान ऐसे भी हैं जो अपनी बेटी के हाथ पीले नहीं कर पा रहे हैं तो कुछ किसाने ऐसे भी हैं जो अपना इलाज तक नहीं करवा पा सहे हैं।

अगर केवल उत्तर प्रदेश की बात करें तो प्रदेश में कुल 119 चीनी मिले हैं, पिछले सत्र की तुलना में लगभग 20 दिन पहले पेराई शुरू हो गई, जिसका फायदा शुगर मिलों ने तो जमकर उठाया, लेकिन किसान को कोई भी लाभ नहीं मिला। पिछले सत्र में मिल प्रबंधन भुगतान को लेकर लेट सत्र शुरू होने का बहाना करता रहता था लेकिन इस बार जहां अगेती प्रजाति से चीनी उत्पादन अच्छा मिल रहा है, वहीं बाजार में चीनी के दाम भी अच्छे हैं। इसके अलावा सरकार ने भी 14 दिन में किसानों के खाते में पैसा देने का दावा किया है, लेकिन इसके बावजूद भी किसानों का पैसा समय से नहीं मिल रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top