क्या गुजरात चुनाव के लिए मुस्लिम नेताओं से मिले थे मोदी, ये है सच

Anusha MishraAnusha Mishra   5 Nov 2017 3:37 PM GMT

क्या गुजरात चुनाव के लिए मुस्लिम नेताओं से मिले थे मोदी, ये है सचअजमेर शरीफ दरगाह के प्रतिनिधि मंडल के साथ पीएम मोदी।

लखनऊ। हाल ही में पीएम मोदी का एक वीडियो और एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था जिसमें उन्हें कुछ मुस्लिम नेताओं से मिलते हुए दिखाया जा रहा था। ऐसा कहा जा रहा था कि दिसम्बर में होने जा रहा गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट देने की अपील करने के लिए पीएम मोदी कुछ मुस्लिम नेताओं से मिले हैं।

लेकिन सच्चाई इससे अलग है। वेबसाइट बूम लाइव के मुताबिक, ये वीडियो 2016 का है जब प्रधानमंत्री मोदी राजस्थान की अजमेर शरीफ दरगाह के प्रतिनिधि मंडल से मिले थे। अजमेर शरीफ में सूफी संत मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह है। यही वीडियो ट्विटर पर शेयर किया गया है।

इस वीडियो में मोदी को सैयद फखर काज़मी चिश्ती से मिलते हुए देखा जा सकता है जो मोदी के सिर पर साफा (पगड़ी) बांध रहे हैं, इसके बाद वे मोदी को मुस्लिम धर्म का एक स्मृति चिन्ह भी भेंट करते हैं।

हालांकि, कुछ ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने इसे गुजरात में आने वाले चुनावों के साथ जोड़कर नफरत फैलने वाला घुमाव दे दिया।

इसके बाद आम आदमी पार्टी (आप) के प्रवक्ता संजय सिंह ने इस ट्वीट को कोट करते हुए हुए मोदी पर कटाक्ष किया और एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा - मोदी जी को धन्यवाद, उन्होंने मुस्लिम धर्म गुरुओं से पगड़ी पहनी लेकिन छुपकर बंद कमरे में।

ये हैं वीडियो के बारे में तथ्य

अजमेर शरीफ दरगाह के प्रतिनिधि मंडल के साथ मोदी की ये मीटिंग 2 मई 2016 को हुई थी लेकिन ये कोई गुप्त बैठक नहीं थी। सिर्फ यही नहीं, प्रधानमंत्री मोदी और प्रेस इनफॉर्मेशन (पीआईबी) दोनों ने इस बैठक का एक ट्वीट भी किया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top