पीएम मोदी की गोरखपुर में रैली, कृषि निधि योजना से किसानों को मिलेगी पहली किश्त

पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय किसान मोर्चा के महाधिवेशन में शामिल होने के लिए गोरखपुर जाएंगे। वह गोरखपुर में एक रैली भी करेंगे।

पीएम मोदी की गोरखपुर में रैली, कृषि निधि योजना से किसानों को मिलेगी पहली किश्त

लखनऊ। रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में होंगे। वह यहां पर भारतीय किसान मोर्चा के महाधिवेशन के समापन समारोह में हिस्सा लेंगे। इसके अलावा वह फर्टिलाइजर मानबेला मैदान में एक रैली को भी संबोधित करेंगे, जहां से उन्होंने 2014 लोकसभा अभियान की शुरूआत की थी। माना जा रहा है कि वह इस रैली से लोकसभा चुनाव 2019 का शंखनाद करेंगे।

पीएम मोदी गोरखपुर की इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री कृषि निधि योजना का शुभारंभ करेंगे, जिसकी घोषणा केंद्र सरकार ने बजट के दौरान की थी। इस योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रूपए दिए जाएंगे। यह 6000 रूपए तीन किश्तों में दिए जाएंगे, जिसमें प्रत्येक किश्त में किसानों को 2000 रूपए मिलेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी उत्तर प्रदेश के किसानों को 2000 रूपए का चेक देकर इस योजना का शुभारंभ करेंगे। कहा जा रहा है कि पीएम मोदी गोरखपुर में कुछ और योजनाओं की घोषणा कर सकते हैं। वह गोरखपुर-आजमगढ़ एक्सप्रेस लिंक वे की आधारशिला रखेंगे। इसके अलावा वह गोरखपुर और कांडला के बीच एलपीजी गैस पाइपलाइन का भी शिलान्यास करेंगे।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि पूर्वांचल के विकास के लिए प्रधानमंत्री करीब 903 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का सौगात देंगे। पिपराइच और मुंडेरवा में बंद पड़े चीनी मिलों को फिर से खोलने की घोषणा भी पीएम मोदी कर सकते हैं।

भारतीय किसान मोर्चा के महाधिवेशन में पूरे भारत का रंग

बीजेपी के किसान विंग भारतीय किसान मोर्चा के महाधिवेशन में पूरे भारत का रंग दिखेगा। यह महाधिवेशन गोरखपुर के फर्टिलाइजर मानबेला मैदान में होगा। इस महाधिवेशन का उद्घाटन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 23 फरवरी को करेंगे। इसका समापन पीएम मोदी करेंगे। इस महाधिवेशन में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री राधामोहन अग्रवाल भी शामिल होंगे।

इस महाधिवेशन में पूरे देश के हजारों किसानों और किसान प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। किसान मोर्चा के महाधिवेशन के लिए कई बड़ी तैयारियां की गई हैं। आयोजकों के मुताबिक दक्षिण भारतीय किसानों के लिए उपमा-डोसा, इडली-सांभर जबकि उत्तर भारतीयों के लिए दही-चूड़ा, लिट्टी-चोखा जैसे व्यंजनों की व्यवस्था की गई है।

कहा जा रहा था कि किसान मोदी सरकार के 5 साल से काफी नाराज है। इसलिए चुनावी साल में मोदी सरकार लगातार किसानों को लुभाने में लगी हुई है। बजट में किसानों के लिए बड़ी घोषणाएं की गई। अब माना जा रहा है कि किसानों के इस अधिवेशन में भी पीएम मोदी किसानों को लेकर कछ महत्वपूर्ण घोषणाएं कर सकते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top