वाराणसी: पीएम मोदी ने कहा- खेती के साथ-साथ ब्‍लू इकॉनोमी पर दिया जा रहा विशेष बल

वाराणसी: पीएम मोदी ने कहा- खेती के साथ-साथ ब्‍लू इकॉनोमी पर दिया जा रहा विशेष बलफोटो- एएनआई

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी में एकदिवसीय दौरे पर हैं। लोकसभा चुनाव जीतने के बाद वह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में दूसरी बार दौरे पर हैं। इससे पहले वह चुनाव जीतने के बाद वाराणसी आए थे। यहां आते ही उन्‍होंने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री की प्रतिमा का अनावरण किया। साथ ही उन्‍होंने बजट पर भी चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि खेती के साथ-साथ ब्‍लू इकॉनोमी पर विशेष बल दिया जा रहा है।

पीएम मोदी ने भाजपा सदस्यता अभियान की शुरूआत की। उन्‍होंने कहा कि काशी की पावन धरती से देशभर मैं भाजपा के हर समर्पित कार्यकर्ता का अभिवादन करता हूं। आज मुझे काशी से भाजपा के सदस्यता अभियान को शुरु करने का अवसर मिला है। हमारे प्रेरणापुंज डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर इस कार्यक्रम की शुरुआत होना सोने पर सुहागा है।

उन्‍होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को मैं आदर पूर्वक श्रद्धांजलि देता हूं, ये संयोग है कि ये भवन पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी के नाम पर है और इस कार्यक्रम का शुभारंभ हमारी काशी से शुरु हो रहा है। यानि एक त्रिवेणी बनी जिस पर हम सदस्यता अभियान की शुरुआत कर रहे हैं। कल आपने बजट के बाद टीवी पर और आज अखबारों में एक बात पढ़ी सुनी और देखी होगी- वो है $5 Trillion economy. इस फाइव ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य का मतलब क्या है? एक आम भारतीय की जिंदगी का इससे क्या लेना-देना है, ये आपके लिए, सबके लिए जानना बहुत जरूरी है।

फोटो- एएनआईफोटो- एएनआई

पीएम मोदी ने कहा कि आज जिस लक्ष्य की मैं आपसे बात कर रहा हूं वो आपको नए सिरे से सोचने के लिए मजबूर करेगा, नया लक्ष्य और नया उत्साह भरेगा। नए संकल्प और नए सपने लेकर हम आगे बढ़ेंगे और यही मुश्किलों से मुक्ति का मार्ग है। आज ज्यादातर विकसित देशों के इतिहास को देखें, तो एक समय में वहां भी प्रति व्यक्ति आय बहुत ज्यादा नहीं होती थी। लेकिन इन देशों के इतिहास में एक दौर ऐसा आया, जब कुछ ही समय में प्रति व्यक्ति आय तेजी से बढ़ी। यही वो दौर था जब ये देश विकासशील से विकसित देशों की श्रणी में आए।

इसेे भी पढ़ें-Budget 2019: जानिए कहां-कहां ढीली होगी आपकी जेब ?

उन्‍होंने कहा कि जब किसी भी देश में प्रति व्यक्ति आय बढ़ती है तो वो खरीद की क्षमता बढ़ाती है। खरीद की क्षमता बढ़ती है तो मांग बढ़ती है। मांग बढ़ती है तो उत्पादन बढ़ता है, सेवा का विस्तार होता है। यही प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि, उस परिवार की बचत को भी बढ़ाती है। अब हम किसान को पोषक से आगे निर्यातक के रूप में देख रहे हैं। अन्न, दूध, फल-सब्जी, शहद या फिर ऑर्गेनिक उत्पाद इन सबके निर्यात के लिए हमारे पास भरपूर क्षमता है। इसलिए बजट में कृषि उत्पादों के निर्यात के लिए माहौल बनाने पर विशेष बल दिया गया है।

जल संरक्षण पर की चर्चा...

पीएम मोदी ने जल संरक्षण चर्चा करते हुए कहा कि जल संरक्षण और जल संचयन के लिए पूरे देश को एकजुट होकर खड़ा करने की कोशिश की जा रही है। हमारे सामने पानी की उपलब्धता से भी अधिक पानी की फिजुलखर्ची और बर्बादी बहुत बड़ी समस्या है। लिहाजा घर के उपयोग में या सिंचाई में पानी की बर्बादी को रोकने की आवश्यकता है। देश के हर घर को पानी मिल सके इसके लिए जल शक्ति मंत्रालय तो हम बना ही चुके हैं, साथ ही जल शक्ति अभियान भी शुरू किया गया है। इसका बहुत बड़ा लाभ हमारी माताओं-बहनों को मिलेगा जो पानी के लिए अनेक कष्ट उठाती हैं।

उन्‍होंने कहा कि 5 ट्रिलियन डॉलर के सफर को आसान बनाने के लिए हम स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत, सुंदर भारत बनाने पर भी फोकस कर रहे हैं। बीते वर्षों में स्वच्छता के लिए देश के हर नागरिक ने जो योगदान दिया है, उससे स्वस्थ भारत बनाने की हमारी कोशिश को बल मिला है। स्वस्थ भारत के लिए आयुष्मान भारत योजना भी बहुत सहायक सिद्ध हो रही है। देश के करीब 50 करोड़ गरीबों के लिए हर वर्ष 5 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज सुनिश्चित हो रहा है। अब तक लगभग 32 लाख गरीब मरीजों को इसका लाभ मिल चुका है।

इसे भी पढ़ें-सुभाष पालेकर : दुनिया को बिना लागत यानी जीरो बजट खेती करना सिखा रहा ये किसान

पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता का संबंध स्वास्थ्य से तो है ही सुंदरता से भी है। यहां काशी में भी स्वच्छता और सुंदरता का लाभ हम सभी को देखने को मिल रहा है। गंगा घाट से लेकर सड़कों और गलियों तक में साफ-सफाई के कारण यहां आने वाले पर्यटक अब बेहतर अनुभव कर रहे हैं। हम 21वीं सदी की आवश्यकताओं के अनुसार पूरे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहे हैं। गांव में उपज के भंडारण के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर, शहरों में आधुनिक सुविधाओं का निर्माण, हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। हाईवेज, रेलवेज, एयरवेज, वॉटरवेज, डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर, गांव में ब्रॉड बैंड की सुविधा इन सभी में आने वाले 5 वर्षों में 100 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। आने वाले कुछ वर्षों में गांवों सवा लाख किमी सड़कों का निर्माण किया जाएगा।


इसे भी पढ़ें-Budget 2019: किसानों के सबसे बड़े मुद्दों पर बात ही नहीं हुई

सुरक्षा में लगे हैं तीन हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में 3 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। इसमें 6 आईपीएस अफसरों उनकी सुरक्षा का जिम्मा दिया गया है। इसके साथ ही 6 एडिशनल एसपी, 16 डीएसपी, 200 इंस्पेक्टर और दारोगा, 6 कंपनी पैरामिलिट्री, 5 कंपनी पीएसी, जिला पुलिस के साथ स्वाट टीमें उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था ट्वीट...

पीएम मोदी ने ट्वीट किया था कि यह अभियान समाज के सभी वर्ग के लोगों को भाजपा परिवार से जोड़ेगा। यह हमारी पार्टी को मजबूत करेगा। उन्होंने कहा कि हमारी प्रेरणा, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर भाजपा का सदस्यता अभियान शुरू होगा। मैं इस अभियान में काशी में शामिल रहूंगा और साथ ही अपने भाषण के दौरान बजट और आने वाले सालों में भारत के विकास पर विस्तार से चर्चा करेंगे।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top