ईवीएम चुनौती के आवेदन के लिए नहीं आया कोई दल, आज है आखिरी दिन

ईवीएम चुनौती के आवेदन के लिए नहीं आया कोई दल, आज है आखिरी दिनकिसी राजनीतिक दल ने चुनौती अब तक स्वीकार नहीं है

लखनऊ। ईवीएम हैक करने की चुनौती के लिए आवेदन करने का आज आखिरी दिन था लेकिन चुनाव आयोग के अनुसार अभी तक कोई दल यहां आवेदन के लिए नहीं आया है।

चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने गुरुवार देर शाम बताया कि अब तक किसी पार्टी ने अपने एक्सपर्ट को ईवीएम चुनौती हैकाथॉन के लिए नामांकित नहीं किया है। इससे पहले 20 मई को आयोग ने तीन जून से ईवीएम चैलेंज शुरू होने की घोषणा की थी जिसके लिए पार्टियों को 26 मई तक आवेदन करना था।

ईवीएम में गड़बड़ी का मुद्दा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद उठा था जब आम आदमी पार्टी ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। इसके बाद दूसरी पार्टियों सपा, बसपा ने भी इसमें सहमति जताई थी।

ये भी पढ़ें: ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना असंभव : चुनाव आयोग

आम आदमी पार्टी ने 24 मई को आयोग से ईवीएम चुनौती के दौरान किसी तरह का दिशा-निर्देश तय नहीं करने को कहा क्योंकि पार्टी का मानना है कि मशीन को हैक करने की साजिश रचने वाला व्यक्ति चुनाव आयोग द्वारा तय किसी नियम का पालन नहीं करेगा। हालांकि चुनाव आयोग ने ईवीएम को हैक करने से जुड़ी चुनौती के दौरान उसके मदरबोर्ड से छेड़छाड़ करने की अनुमति देने की आम आदमी पार्टी की मांग को खारिज कर दिया था।

ये भी पढ़ें: हैकर बनाम डेवलपर: ईवीएम को लेकर नया पेंच

इससे पहले आम आदमी पार्टी ने नौ मई को दिल्ली विधानसभा में ईवीएम टेंपरिंग का डेमो दिखाया था। इसके बाद चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों की शिकायतों के आधार पर खुली चुनौती देने का फैसला किया। इस चुनौती में सात राष्ट्रीय और 48 क्षेत्रीय दल तीन जून को प्रस्तावित चुनौती में हिस्सा लेना है।

Share it
Share it
Share it
Top