27 साल बाद स्टेज पर परफॉर्म करेंगी चित्रा सिंह, बेटेे की मौत के बाद से गाना बंद कर दिया था

Shefali SrivastavaShefali Srivastava   10 April 2017 3:41 PM GMT

27 साल बाद स्टेज पर परफॉर्म करेंगी चित्रा सिंह, बेटेे की मौत के बाद से गाना बंद कर दिया थाबनारस म्यूजिक फेस्टिवल में प्रस्तुति देंगी चित्रा सिंह

लखनऊ। 27 साल पहले एक हादसे में बेेटे को खोने के बाद मशहूर गज़ल गायिका और जगजीत सिंह की पत्नी चित्रा सिंह ने गाना लगभग छोड़ दिया था।

अब खबर है कि एक बार फिर 27 साल के अंतराल को खत्म करके चित्रा स्टेज पर प्रस्तुति देने के लिए तैयार हैं। यह संभव होगा वाराणसी के संकट मोचन म्यूजिक फेस्टिवल के दौरान 15 अप्रैल को। छह दिनों तक चलने वाला यह फेस्टिवल अप्रैल 15 से 20 तारीख तक बनारस के संकट मोचन मंदिर में आयोजित किया जाएगा।

चित्रा सिंह और जगजीत सिंह के बेटे विवेक की मौत 1990 में एक कार एक्सीडेंट में मरीन ड्राइव में हुई थी। हादसे से आहत चित्रा ने स्टेज पर गाना पूरी तरह छोड़ दिया था।

बेटे और पति के साथ चित्रा सिंह

बताया जा रहा है कि बनारस में लाइव प्रस्तुति देने के अलावा चित्रा पति जगजीत सिंह के लिए भारत रत्न की मांग करेंगी। चित्रा इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी ये मांग कर चुकी हैं।

आयोजकों के मुताबिक चित्रा सिंह की आवाज को नई पीढ़ी ने नहीं सुना होगा इसलिए उनका मंच पर आना एक बड़ी बात होगी।

रात तक चलने वाले इस फेस्टिवल की शुरुआत 1923 में हुई थी, जिसमें टॉप क्लासिकल म्यूजिशिन और डांसर भाग लेते हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार, मंदिर के महंत विश्वंभर नाथ मिश्रा ने कहा कि संगीत प्रेमियों को चित्रा सिंह की परफॉर्मेंस उद्घाटन वाले दिन देखने को मिलेगी। वह 26 साल बाद परफॉर्म करेंगी।

इसके अलावा अमेरिकन सैक्सोफोन मास्टर जॉर्ज ब्रूक, गुलफाम अहमद खान, अजमेर से उस्ताद हमसार हयात नियामी और कई दूसरे लोग भी इस फेस्टिवल में भाग लेंगे।

70 से भी ज्यादा कलाकार अलग-अलग जगहों से इस मंदिर में परफॉर्म करने आएंगे। वहीं विदेश में किसी दूसरे कार्यक्रम की वजह से पाकिस्तानी गज़ल उस्ताद ग़ुलाम अली इस बार संकट मोचन मंदिर में अपनी परफॉर्मेंस नहीं देंगे। गुलाम अली ने यहां पिछले साल गज़ल गाई थीं जिसका देश में काफी विरोध हुआ था। उनके कई कॉन्सर्ट भी रद्द हो गए थे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top