रामनाथ कोविंद का राष्ट्रपति बनना लगभग तय, बस एक क्लिक में समझिए चुनाव का वोटिंग गणित

Mithilesh DubeyMithilesh Dubey   17 July 2017 6:24 PM GMT

रामनाथ कोविंद का राष्ट्रपति बनना लगभग तय, बस एक क्लिक में समझिए चुनाव का वोटिंग गणितरामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

लखनऊ। भारत के 14वें राष्ट्रपति के लिए सोमवार को वोटिंग शाम 5 बजते ही खत्म हो गई। मुक़ाबला एनडीए के रामनाथ कोविंद और यूपीए की मीरा कुमार के बीच है। संसद से लेकर विधानसभाओं तक वोट डाले गए। 20 जुलाई को चुनाव के नतीजे की घोषणा की जाएगी। पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने संसद में बने मतदान केंद्र में अपना वोट डाला। इनके अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी समेत कई केंद्रीय मंत्रियों और सांसदो ने भी मतदान किया।

वहीं उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी वोट डाला। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपना वोट डाला। नए राष्ट्रपति के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच सीधा मुकाबला है इसके लिए कुल 32 मतदान केंद्रों पर वोट डाले गए हैं।

ये भी पढ़ें-राष्ट्रपति चुनाव : 33 फीसदी मतदान करने वाले सांसद और विधायकों पर आपराधिक मुकदमा

चुनाव के सयय पार्टियों में मतभेद भी देखने को मिला। चुनाव से पहले टीमएसी का समर्थन मीरा कुमार को था लेकिन एन वक्त पर पार्टी ने अपने स्टैंड में बदलाव किया। इस बारे में त्रिपुरा टीएमसी अध्यक्ष आशीष साहा ने कहा, 'दिल्ली में बैठकर सीपीएम के साथ एकजुट होकर मीरा का सपोर्ट करने को तैयार हो गए। हम उनका साथ नहीं देंगे जो सीपीएम का समर्थन करेगा। हम एनडीए उम्मीदवार को वोट करेंगे, जो सीपीएम के खिलाफ है। हमारे 6 विधायक कोविंद को वोट देंगे।'

कोविंद की दावेदारी मजबूत

आंकड़ों की बात की जाए तो बिहार के पूर्व राज्यपाल कोविंद की दावेदारी मजबूत नजर आ रही है, क्योंकि उन्हें एनडीए के अलावा जेडीयू और बीजू जनता दल (बीजेडी) जैसे विपक्षी दलों का भी समर्थन हासिल है। यहां जेडीयू के पास निर्वाचक मंडल का कुल 1.91 फीसदी वोट है, जबकि बीजेडी के पास 2.99 फीसदी वोट है।

इसके अलावा तेलंगाना में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के पास 2%, ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) का एक गुट (5.39 %) और वाईएसआर कांग्रेस (1.53%) ने भी कोविंद के पक्ष में मतदान किया। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में हर सांसद के वोट का वैल्यू 708 है, जबकि विधायकों के वोटों का मूल्य उनके राज्यों की आबादी के अनुसार होगा। कोविंद को निर्वाचक मंडल के कुल 10,98,903 मतों में से 63 फीसदी से ज्यादा मत मिलने की संभावना है।

ये भी पढ़ें-इन आंकड़ों में देखिये राष्ट्रपति चुनाव, कोविंद ऐसे ही नहीं बनेगें महामहिम

यूपी के विधायकों के वोटों का मूल्य सबसे ज्यादा

राज्य विधानसभाओं में यूपी के विधायकों का सबसे ज्यादा वोट मूल्य 83 हजार 824 है। ये प्रति विधायक 208 वोटों का आंकड़ा है। लोकसभा और राज्यसभा मेंबर्स के वोट का मूल्य 708 है। वहीं, सिक्किम विधानसभा में सबसे कम मत मूल्य 224 है और ये प्रति विधायक 7 वोटों का आंकड़ा है।

एनडीए के पास हैं कुल 5,37,683 वोट

लोकसभा अध्यक्ष जहां इस चुनाव में मत डाल सकता है वहीं एंग्लो-इंडियन समुदाय से लोकसभा में नामित होने वाले दो सदस्यों को मतदान का अधिकार नहीं होता है। यह चुनाव क्योंकि गोपनीय मतपत्र के जरिये होता है इसलिए पार्टियां अपने सदस्यों को किसी खास उम्मीदवार के पक्ष में मत डालने के लिये व्हिप जारी नहीं कर सकतीं। बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के पास शिवसेना को मिलाकर कुल 5,37,683 वोट हैं और उसे करीब 12000 और मतों की जरूरत है, हालांकि बीजद, टीआरएस और वाईएसआर कांग्रेस से समर्थन के वादे और एआईएडीएमके के एक धड़े से समर्थन की संभावना राष्ट्रपति चुनावों में वोटों की कमी के अंतर को पूरा कर सकती है।

रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार।

55 सांसदों ने डाला राज्यों में वोट

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर समेत 55 सांसदों को राज्य विधानसभाओं में वोट डालने की इजाजत मिली। इनमें 14 राज्यसभा और 41 लोकसभा के सदस्य हैं। इसके अलावा पांच विधायकों ने संसद भवन स्थित मतदान केंद्र में वोट डाला।

ये भी पढ़ें-रामनाथ कोविंद के नाम पर फर्जीवाड़ा

किस पार्टी के पास कितना वोट

  • बीजेपी- 4,42,117
  • टीडीपी- 31,116
  • शिवसेना- 25,893
  • एनडीए के अन्य दल- 38,557
  • एनडीए का कुल वोट- 5,37,683
  • कांग्रेस- 1,61,478
  • टीएमसी- 63,847
  • सीपीएम- 27,069
  • यूपीए के अन्य दल- 1,18,410
  • यूपीए का कुल वोट- 3,70,804

राष्ट्रपति चुनाव का वोटिंग गणित

  • कुल मत करीब 11 लाख
  • वर्तमान में कुल सांसद 784
  • एक सांसद के मत का मूल्य- 708
  • वर्तमान में कुल विधायक- 4114

ये भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रामनाथ कोविंद को जानती ही नहीं

ये भी पढ़ें- रामनाथ कोविंद : कानपुर के एक छोटे से गाँव से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने तक का सफर

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top