राष्ट्रपति चुनाव : चार और लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किया, लखनऊ से भी एक नामांकन

राष्ट्रपति चुनाव : चार और लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किया, लखनऊ से भी एक नामांकनकेन्द्रीय चुनाव आयोग।

नई दिल्ली (भाषा)। आगामी 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए चार और लोगों ने सोमवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया, हालांकि, दस्तावेजों के अभाव में एक व्यक्ति का नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया। लोकसभा सचिवालय के अनुसार अब तक 19 लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किया है। उसमें से आठ आवेदनों को निर्वाचन अधिकारी ने वहीं खारिज कर दिया है। नामांकन पत्र दाखिल करने के पांचवें दिन सोमवार को बेंगलुरु के बी मोहन वेलु, लखनऊ के रामकुमार शुक्ल, दिल्ली के रामशंकर अग्रवाल और कानपुर की कुसुम देवी ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। देवी का नामांकन पत्र खारिज हो गया क्योंकि उन्होंने जिस संसदीय क्षेत्र की वह मतदाता हैं वहां की मतदाता सूची की प्रति संलग्न नहीं की थी।

ये भी पढ़ें- छोटी सी दुकान चलाते थे रामनाथ कोविंद के पिता, पढ़िए उनके बारे में ऐसी ही कुछ अनसुनी और अनकही बातें

नियमों के अनुसार, प्रत्येक उम्मीदवार जो इस पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करेगा उसे उस संसदीय क्षेत्र की मतदाता सूची में अपनी प्रविष्टि की प्रति अवश्य लगानी होगी, जहां वह उम्मीदवार मतदाता के तौर पर पंजीकृत है। सूत्रों के अनुसार शुक्ल और अग्रवाल दोनों ने अतीत में भी राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया था। नियमों के अनुसार शेष उम्मीदवारों का भी नामांकन पत्र खारिज हो जाएगा जब उनके नामांकन पत्र की जांच की जाएगी क्योंकि किसी के पास भी मतदाताओं में से 50 प्रस्तावकों और उतने ही अनुमोदकों के हस्ताक्षर नहीं है। यह वैध नामांकन के लिए अनिवार्य है।

ये भी पढ़ें-रामनाथ कोविंद : बीजेपी के इस दलित कार्ड से बसपा को खतरा

राष्ट्रपति चुनाव में लोकसभा, राज्यसभा और राज्य विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य मतदाता होते हैं। उम्मीदवारों को अपने नामांकन पत्र के साथ 15000 रुपए जमानत राशि के तौर पर जमा करनी होती है। राष्ट्रपति चुनाव के लिये मतदान 17 जुलाई को होगा जबकि मतगणना 20 जुलाई को होगी।

राष्ट्रपति पद के लिए भाजपा की तरफ़ से उम्मीदवार घोषित किए गए रामनाथ कोविंद के गाँव से सीधे लाइव देखिए, गाँव में खुशी का माहाैल है

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top