Top

शहर छोड़कर गांव लौटना चाहते हैं तो Prime Minister Narendra Modi की अपील पढ़िए, आपके अपने सुरक्षित रहेंगे

शहर छोड़कर गांव लौटना चाहते हैं तो Prime Minister Narendra Modi की अपील पढ़िए, आपके अपने सुरक्षित रहेंगेमुंबई के कुर्ला स्टेशन पर शनिवार को लगी यात्रियों की भीड़।

देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या 322 पहुंच चुकी है जबकि 23 लोग ठीक हुए हैं और चार लोगों की जान भी जा चुकी है। बढ़ते मामलों को देखते हुए शहरों में रहने वाले लोग गांव की ओर रुख कर रहे हैं। स्टेशनों और ट्रेनों में भीड़ बढ़ रही है। इसे देखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके लोगों से अपील की है वे अभी जहां हैं, कुछ दिनों तक वहीं रहें।

अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा है, "कोरोना के भय से मेरे बहुत से भाई-बहन जहां रोजी-रोटी कमाते हैं, उन शहरों को छोड़कर अपने गांवों की ओर लौट रहे हैं। भीड़भाड़ में यात्रा करने से इसके फैलने का खतरा बढ़ता है। आप जहां जा रहे हैं, वहां भी यह लोगों के लिए खतरा बनेगा। आपके गांव और परिवार की मुश्किलें भी बढ़ाएगा।"


"मेरी सबसे प्रार्थना है कि आप जिस शहर में हैं, कृपया कुछ दिन वहीं रहिए। इससे हम सब इस बीमारी को फैलने से रोक सकते हैं। रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों पर भीड़ लगाकर हम अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कृपया अपनी और अपने परिवार की चिंता करिए, आवश्यक न हो तो अपने घर से बाहर न निकलिए।"

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ती संख्या को इस चार्ट से समझिए

कोरोना वायरस को रोकने लिए राज्य सरकारें भी बड़े फैसले ले रही है। राजस्थान लॉकडाउन (बंदी) करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है तो वहीं मुंबई और पुणे को भी लॉकडाउन कर दिया गया है। धंधा-व्यापार भी बंद है। ऐसे में हजारों लोग अपने गांव लौटने की कोशिश कर रहे हैं।

लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन पर शनिवार को यात्रियों की भीड़

शुक्रवार और शनिवार को लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन (एलटीटी) और पुणे रेलवे स्टेशन पर राज से ज्यादा भीड़ देखी गई। ट्रेनों में घुसने के लिए लोग धक्कामुक्की भी करते नजर आये।

जनता कर्फ्यू को देखते हुए रेल मंत्रालय ने 22 मार्च को एक साथ 3700 ट्रेनों को कैंसिल कर दिया है। देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब रेल के पहिए थम जाएंगे। शनिवार मध्यरात्रि से रविवार रात दस बजे के बीच किसी भी स्टेशन से कोई यात्री ट्रेन सफर शुरू नहीं करेगी। यानी शनिवार 21 मार्च 2020 की मध्‍यरात्रि से रविवार 22 मार्च 2020 को रात 10 बजे तक लगभग भारतीय रेलवे (Indian Railway, IRCTC) ने करीब 3700 ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

इस कारण भी शुक्रवार देर रात से शनिवार तक स्टेशनों पर बहुत भीड़ दिखी। भीड़ से निपटने के लिए मध्य रेलवे ने पटना, हावड़ा, दानापुर, गोरखपुर, मंडुआडीह और बल्लारशाह के लिए विशेष ट्रेनें भी चलाई।

कारोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां 64 लोगों कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। वहीं एक मरीज की मौत भी हुई है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के अनुसार देशभर में शनिवार से 111 लैब में कोरोना वायरस का टेस्ट हो रहा है। देश में भारतीय और अन्य देश के 1600 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर रखा गया है।

इस वायरस से पूरी दुनिया में अब तक 11,401 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.