'गांव बंद' : पंजाब के किसान छह जून को समाप्त करेंगे विरोध प्रदर्शन

'गांव बंद' आंदोलन में दरार, चार दिन पहले हड़ताल खत्म करेंगे पंजाब के किसान। भारतीय किसान यूनियन ने 6 जून को अपना आंदोलन खत्म करने का ऐलान किया है।

गांव बंद : पंजाब के किसान छह जून को समाप्त करेंगे विरोध प्रदर्शनमेरठ में किसानों ने कुछ इस तरह किया था विरोध प्रदर्शन। फोटो: पीटीअाई

लुधियाना। केंद्र सरकार की कथित किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ पंजाब के किसानों का विरोध प्रदर्शन आज चौथे दिन में प्रवेश कर गया। राज्य के किसानों ने अपना विरोध प्रदर्शन छह जून को वापस लेने का फैसला किया है जबकि अन्य राज्यों में यह प्रदर्शन जारी रहेगा। विभन्नि किसान संगठनों के नेताओं की बैठक में आज यह फैसला किया गया। इस बैठक की अध्यक्षता भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू - राजेवाल) के अध्यक्ष बलबीर सिंह राजेवाल ने की। इस बैठक में बीकेयू (लाखोवाल), बीकेयू (सद्धिपुर), भारतीय किसान संगठन , बीकेयू (कड़ियन) और पंजाब डेयरी फेडरेशन एसोसिएशन ने हस्सिा लिया।

'गांव बंद': दूध और सब्जियों के दाम छूने लगे आसमान, दूध की कालाबाजारी



किसानों ने अपना प्रदर्शन एक जून से राष्ट्रीय विरोध प्रदर्शन के रूप में शुरू किया था। इस दौरान किसानों ने सब्जी, फल, दूध और अन्य खाद्य पदार्थों की आपूर्ति विभन्नि शहरों में रोक दी थी। किसान यह विरोध प्रदर्शन केंद्र सरकार की कथित तौर पर किसान विरोधी नीति के विरोध में कर रहे हैं। राजेवाल ने कहा कि पंजाब के किसान बुधवार से शहरों में सब्जी और दूध की आपूर्ति शुरू करेंगे। इससे पहले वह छह जून को पिछले साल मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देंगे। उन्होंने कहा अन्य राज्यों में यह विरोध प्रदर्शन 10 जून तक जारी रहेगा।

तो क्या चुनावी मुद्दा और राजनीति का केंद्र बनेंगे किसान ?


Share it
Share it
Share it
Top