राहुल गांधी का निशाना, पीएम मोदी ने सिर्फ अपने दोस्तों को अधिकतम आय गारंटी मुहैया की

केरल के कोच्चि में बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर जम कर निशाना साधा।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
Rahul Gandhiकेरल में बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में संबोधन के दौरान राहुल गांधी (सोर्स- केरल कांग्रेस ट्वीटर)

कोच्चि। कांग्रेस के सत्ता में आने पर गरीबों के लिए न्यूनतम आय गारंटी सुनश्चित करने की घोषणा करने वाले राहुल गांधी ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी ने अपने 15 मत्रियों को अधिकतम आय गारंटी मुहैया कराई है।

राहुल ने कहा,पिछले पांच साल में मोदी जी ने अपने 15 मत्रियों को अधिकतम आय की गारंटी मुहैया कराई है। इसलिए हमने फैसला किया है कि यदि नरेंद्र मोदी 15 अमीर लोगों को अधिकतम आय गारंटी दे सकते हैं तो हम हर नागरिक को न्यूनतम आय गारंटी देंगे। केरल के कोच्चि में बूथ स्तरीय पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में राहुल ने कहा कि जिस तरह से मनरेगा काम का अधिकार देता है, आरटीआई सूचना का अधिकार देता है, खाद्य सुरक्षा कानून भोजन का अधिकार देता है, उसी तरह से कांग्रेस सरकार प्रत्येक गरीब भारतीय नागरिक को एक न्यूनतम आय की गारंटी देने जा रही है।

मोदी सरकार की नीतियों पर हमला बोलते हुए राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने भरोसा दिलाया कि कांग्रेस सरकार किसानों का कल्याण सुनश्चित करेगी। उन्होंने कहा, हमने जिन तीन राज्यों (राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़) में चुनाव जीता है, वहां किसानों की कर्ज माफी की है।

राहुल ने कहा, हम इस बात को लेकर प्रतिबद्ध हैं कि 2019 में हमारे पास एक ऐसी सरकार होगी जो पिछले पांच साल में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किसानों के खिलाफ किए गए सारे अपराधों की भरपाई कर देगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर महिला आरक्षण विधेयक को प्राथमिकता के साथ पारित कराया जाएगा।

राहुल ने कहा 2019 का चुनाव जीतने पर पहली चीज हम यह करेंगे कि संसद में महिला आरक्षण विधेयक पारित कराएंगे। उन्होंने कहा, हम महिलाओं को नेतृत्व के स्तर पर देखना चाहते हैं। गौरतलब है कि इस विधेयक का उद्देश्य लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान करना है। इस मुद्दे पर आमराय नहीं बन पाने के चलते यह विधेयक लंबे समय से लंबित है।

सबरीमला मंदिर मुद्दे पर सीधी टिप्पणी करने से बचते हुए उन्होंने महज यह कहा कि पार्टी केरल की परंपरा का सम्मान करती है। राहुल ने कहा, कांग्रेस पार्टी केरल में महिलाओं का सम्मान करती है और साथ ही साथ केरल की परंपराओं का भी सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि केरल भाजपा और माकपा द्वारा की गई हिंसा से दुःखी है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि केरल ना सिर्फ एक राज्य है बल्कि एक विचार है। केरल के लोग भारत के लोगों को दिशा दिखाने में मदद करते हैं। उन्होंने लोगों से कहा कि वे अपने को कम करके नहीं आंकें। आरएसएस के पास स्वयंसेवक है, माकपा के पास कैडर है लेकिन भारत कांग्रेस कार्यकर्ताओं के दिलों में बसता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा और भाजपा केरल में लोगों को बांटने का काम कर रही है जबकि रोजगार और किसानों की सुरक्षा का मुद्दा ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। राहुल ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी ने एक कार्यक्रम शुरू किया है, जिसमें सभी कार्यकर्ता नेतृत्व से सीधे बात कर सकते हैं। इससे पार्टी का जनाधार भी मजबूत भी होगा और लोगों तक पार्टी नेतृत्व आसानी से जुड़ सकेगी।

( समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

       

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.